News

ऑटो में मर्द बैठे थे तो लड़की को नहीं जाना था- गैंगरेप पर किरण खेर

Last Modified - November 30, 2017, 7:11 pm

चंडीगढ़। 17 नवंबर, शाम पौने 8 बजे का वक्त, 22 साल की छात्रा ने कोचिंग क्लास से निकलने के बाद ऑटो से मोहाली के अपने पीजी के लिए निकली। रोजाना वो इसी तरह क्लास से पीजी लौटा करती थी।

ये भी पढ़ें- वॉर के वक्त विमान नहीं करेंगे लैंड, हवा में भरा जाएगा ईंधन

ये वक्त ट्रैफिक का, चहल-पहल का होता है, इसलिए किसी तरह का कोई खतरा उसने महसूस नहीं किया था, लेकिन 17 नवंबर की ये शाम इस छात्रा के लिए उसकी ज़िंदगी की काली रात बन गई। ऑटो ड्राइवर समेत तीन लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया और इस वारदात ने उसकी ज़िंदगी बदल दी। अब इस घटना पर बीजेपी सांसद और अभिनेत्री किरण खेर की नसीहत सुनिए...

ये भी पढ़ें- जम्मू कश्मीर में सेना के हाथों जहन्नुम पहुंचाए गए पांच जिहादी

 

ये भी पढ़ें- शिक्षाकर्मियों की नई पोस्टिंग, धरसींवा,तिल्दा,आरंग,अभनपुर में भर्ती

जी हां, भाजपा सांसद कह रही हैं कि जब पहले से ऑटो में तीन आदमी बैठे हुए हैं तो लड़की को उसमें बैठना ही नहीं चाहिए था। किरण खेर ने ज़ोर देकर कहा कि वो ये बात सारी लड़कियों को कहना चाहती हैं। किरण खेर का बयान सामने आते ही मामले ने तूल पकड़ लिया और कांग्रेस ने इसकी आलोचना की। कांग्रेस नेता पवन बंसल ने किरण खेर के वक्तव्य का हवाला देते हुए कहा कि देखिए एक गंभीर संवेदनशील मुद्दे पर बीजेपी सांसद किस तरह का हल्का बयान दे रही हैं। सांसद होने के नाते उन्हें ये कहने की जरूरत थी कि वो चंडीगढ़ को महिलाओं को किस तरह सुरक्षित बनाने की सोच रही हैं।

ये भी पढ़ें-शादी समारोह में लगा रक्तदान शिविर, दूल्हा-दुल्हन ने किया रक्तदान

कांग्रेस के इस जवाब पर किरण खेर ने पहले तो सफाई दी- मैंने तो ये कहा था कि ज़माना बहुत ख़राब है, बच्चियों को एहतियात बरतना चाहिए, अगर कोई लड़की रात में 100 नंबर पर फोन करती है तो चंडीगढ़ पुलिस पीसीआर वैन भेजती है। इस मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें- जहीर-सागरिका की दावत में छाए विराट-अनुष्का, नेहरा के ठुमके

इसके बाद आक्रामक रुख अपनाते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि जिन्होंने इसका राजनीतिकरण करने की कोशिश की है, उनपर लानत है। आपके घर में भी बच्चियां हैं, आपको भी मेरी तरह कंस्ट्रक्टिव (रचनात्मक) बात करनी चाहिए, डिस्ट्रिक्टिव बात नहीं करनी चाहिए।

 

ये भी पढ़ें- नर्सरी के बच्चों को पकड़ा दिए सैक्स एजुकेशन की बुक

चंडीगढ़ गैंगरेप के तीनों आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन जिस तरह से भाजपा सांसद कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करने के बारे में बयान न देकर पीड़ित को ही ऑटो में नहीं बैठने की नसीहत देती नज़र आ रही हैं, उससे गैंगरेप जैसे मामलों को रोक पाने में बेबसी साफ नज़र आती है।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News