News

बीच का रास्ता निकालने के लिए हड़ताली शिक्षाकर्मी-सरकार बैठेंगे साथ

Last Modified - December 1, 2017, 11:32 am

रायपुर। पिछले 11 दिनों से जारी शिक्षाकर्मियों की हड़ताल शुक्रवार को भी जारी रही प्रदेश के सभी 146 विकास खंड़ों में शिक्षाकर्मियों की क्रमिक भूख हड़ताल जारी है। इतना ही नहीं सरकार भी अपने रूख पर कायम है और शिक्षाकर्मियों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। शासन हड़ताली शिक्षाकर्मियों से निपटने के लिए बर्खास्ती और स्थानांतरण को हथियार की तरह उपयोग कर रही है।

पढ़ाई छोड़ दफ्तरों में बाबूगिरी कर रहे 118 शिक्षक अब पढ़ाते नज़र आएंगे

इसी बीच रायपुर जिला पंचायत ने 10 शिक्षार्मियों को अल्टीमेटम जारी करते हुए कहा कि यदि उन्होंने स्कूल ज्वाईन नहीं किया तो उनका 1 साल तक प्रमोशन रोक दिया जाएगा। ये वे शिक्षाकर्मी है जिन्हें व्याख्याता पंचायत पद पर पदोन्नती मिलनी है। इसी के साथ रायपुर जिला पंचायत के सीईओ ने दावा किया की 6500 हजार शिक्षाकर्मियों में से लगभग 1800 शिक्षाकर्मी वापस अपनी नौकरी पर लौट आए है।

शिक्षाकर्मियों की नई पोस्टिंग, धरसींवा,तिल्दा,आरंग,अभनपुर में भर्ती

इतना ही नहीं सरकार ने हड़ताली शिक्षाकर्मियों को बातचीत के लिए भी आमंत्रित किया है। पंचायत एवं ग्रामीण शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने शिक्षाकर्मी संघ को बातचीत का बुलावा भेजा है, शुक्रवार दोपहर लगभग 12 बजे शिक्षाकर्मियों का एक प्रतिनिधि मंडल उनसे इस मुद्दे पर चर्चा करने वाला है। इसी के साथ उम्मीद लगाई जा रही है कि इस बैठक के बाद सरकार और हड़ताली शिक्षकों के बीच को रास्त निकल जाए।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News