News

विराट के 5000 टेस्ट रन पूरे, कोटला बना गवाह, सफर पर एक नज़र 

Last Modified - December 2, 2017, 1:43 pm

दिल्ली। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के लिए फिरोजशाह कोटला का होम ग्राउंड आज एक और शानदार रिकॉर्ड का गवाह बना। श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ के तीसरे और आखिरी मैच में विराट ने जैसे ही 25वां रन बनाया, उनके नाम जुड़ गया एक नया रिकॉर्ड।

विराट कोहली का ये 63वां टेस्ट मैच है, इस मैच में भारतीय पारी के 31वें ओवर की तीसरी गेंद जैसे ही श्रीलंका के गेंदबाज सुरंगा लकमल ने फेंकी, विराट ने उसपर कवर ड्राइव लगाया और गेंद सीधे बाउंड्री से बाहर। इसी के साथ फिरोजशाह कोटला स्टेडियम तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। पहले तो सबको लगा कि ये तालियां सिर्फ चौके के लिए है, लेकिन तभी स्क्रीन पर चमका 5000 टेस्ट रन की बधाई।

देखें वीडियो-

विराट कोहली  टेस्ट क्रिकेट में 5 हजार रन पूरे करने वाले 11वें भारतीय क्रिकेटर हैं। भारत की ओर से सबसे तेज़ 5000 रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं पूर्व सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर, जिन्होंने 53 मैचों में ये उपलब्धि हासिल की थी। दूसरे नंबर पर दिल्ली के ही रहने वाले पूर्व सलामी बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग हैं, जिन्होंने 5000 रन 59 मैच में पूरे किए थे।

ये भी पढ़ें- जहीर-सागरिका की दावत में छाए विराट-अनुष्का, नेहरा के ठुमके

खास बात ये हैं कि विराट के बाद नंबर आता है सचिन तेंदुलकर का, जिन्होंने 67 मैचों में 5000 टेस्ट रन पूरे किए थे। अगर पारियों के हिसाब से देखें तो गावस्कर ने 95 पारियों, सहवाग ने99 पारियों, सचिन ने 103 पारियों, राहुल द्रविड़ ने 63 मैच की 108  पारियों में 5000 रन पूरे किए थे। दुनिया में सबसे तेज़ 5000 रन बनाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई लीजेंड सर डॉन ब्रैडमैन के नाम है, जिन्होंने सिर्फ 36 मैच की 56 इनिंग्स में ये कारनामा कर दिखाया था।

विराट कोहली ने जुलाई 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ किंग्सटन में अपना पहला टेस्ट खेला था, लेकिन तीन मैच में सिर्फ 76 रन ही बना पाए और औसत रहा था 15.20, जिसके बाद उन्हें टेस्ट टीम से बाहर भी होना पड़ा। इसके बाद विराट ने जमकर पसीना बहाया और फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ मुंबई में खेले एकमात्र मैच में उन्होंने 57.50 की औसत से 115 रन बनाकर आस्ट्रेलिया के लिए टिकट पक्का कर लिया।

ये भी पढ़ें-दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान में भारत-श्रीलंका के बीच द्वंद

इस दौरे पर विराट टीम इंडिया के सबसे दमदार बल्लेबाज़ बनकर उभरे और एडिलेड टेस्ट की पहली पारी में 116 रन बनाकर वर्ल्ड टेस्ट क्रिकेट में अपने मजबूत इरादे जाहिर कर दिए।

ये भी पढ़ें- विराट ने उठाया खिलाड़ियों की सैलरी का मुद्दा

2014-15 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास के बाद विराट को कप्तानी की कमान मिली और इसके बाद से वो लगातार हर फॉरमेट में शानदार उपलब्धि हासिल कर रहे हैं। विराट कोहली अब तक 63 टेस्ट मैचकी 105 पारियों में करीब 52 की औसत से 19 शतकों के साथ 5000 रन बना चुके हैं।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News