रायपुर News

शिक्षाकर्मियों पर सख्ती, बूढ़ातालाब और ईदगाहभाठा में धारा 144 लागू

Last Modified - December 3, 2017, 11:06 am

आज एक बार फिर से रायपुर में जुटेंगे हड़ताली शिक्षाकर्मी. सख्ती के बाद भी शनिवार को 15 हजार से ज्यादा शिक्षाकर्मियों ने राजधानी पहुंचकर प्रदर्शन किया था. आंदोलन को लेकर बूढ़ातालाब और  ईदगाहभाठा में धारा 144 लागूकर दिया गया. समर्थन में कांग्रेस का 5 दिसंबर को प्रदेश बंद का ऐलान. शिक्षाकर्मियों के आंदोलन को लेकर पुलिस प्रशासन सतर्क है. धरनास्थल तक जाने वाले रास्तों को किया बंद. 

ये भी पढ़ें- बंदिशों के बावजूद 15 हजार से ज्यादा शिक्षाकर्मियों ने किया प्रदर्शन

रायपुर में शनिवार को  15 हज़ार से ज्यादा शिक्षाकर्मी प्रशासन को चकमा देकर ईदगाह भाटा मैदान में महारैली के लिए इकट्टा हो गए। अब शिक्षाकर्मी एक बार फिर रविवार को इसी जगह पर हजारों की तादाद में जुटने के लिए व्हाट्स एप पर मैसेज भेज रहे हैं। शिक्षाकर्मियों के व्हाट्स एप ग्रुप में लिखा गया है, कि वीरेंद्र दुबे और केदार जैन सहित वे साथी जो अब तक जेलों में हैं या नज़रबंद किए गए हैं, उनकी जबतक निःशर्त रिहाई नहीं हो जाती, तब तक हड़ताल जारी रहेगी।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में छाया पटवारी, लोटपोट हो जाएंगे आप

मैसेज में ये भी लिखा है, कि प्रदेश के सभी आंदोलनकारी शिक्षक पंचायत संवर्ग से अपील की जाती है, कि वे सभी अपनी व्यवस्था कर लें और रविवार सुबह 10 बजे ईदगाह भाटा मैदान में ज़रूर मौजूद रहें। इसके अलावा जिन शिक्षाकर्मियों को पुलिस ने रोक रखा है, उसने भी रिहाई होने के बाद धरनास्थल पहुंचने कहा गया है। वहीं जो शिक्षाकर्मी रायपुर से नहीं निकल पाए हैं, उन्हे बस से जाने और ऐसे किसी भी दस्तावेज़ को रखने से मना किया गया है, जिनसे उनकी पहचान शिक्षाकर्मी के रूप में होती है। 

ये भी पढ़ें- रायपुर जिले में 300 से ज्यादा शिक्षाकर्मी गिरफ्तार, धारा 144 लागू

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News