भोपाल News

एड्स पीड़ित महिलाएं दे रहीं स्वस्थ बच्चे को जन्म, MY हॉस्पिटल में 503 डिलीवरी

Last Modified - December 4, 2017, 12:16 pm

भोपाल। किसी समय एचआईवी पॉजिटिव गर्भवती के लिए बच्चे को जन्म देना किसी सपने से कम नही था। उन्हें न घर मे जगह मिलती थी न अस्पताल में । बच्चे को जन्म दे भी दिया तो उसके संक्रमित रहने की आशंका रहती थी। लेकिन अब परिस्थितियां बदल रही हैं। इंदौर के एमवायएच अस्पताल में ऐसी महिलाओं ने 503 बच्चों को जन्म दिया। 

ये भी पढ़ें- IBC24 के ऑपरेशन गंदी नजर का असर, कैमरे में क़ैद मनचलों पर कार्रवाई

ये भी पढ़ें- भोपाल गैस पीड़ित विधवाओं को मिलेगा 1 हजार रुपए मासिक पेंशन

इनमे से 484 स्वस्थ है। 503 में से 125 से ज़्यादा सीज़र भी शामिल हैं। इस साल 56 ऐसी महिलाओं की डिलीवरी कराई जा चुकी है। और दो महिलाएं फिलहाल भर्ती हैं।  एड्स पीड़ित महिलाएं दे रहीं स्वस्थ बच्चे को जन्म. एमवाय हॉस्पिटल में 503 डिलीवरी. 484 बच्चे पूरी तरह स्वस्थ. 503 में से 125 से ज्यादा सीजर भी शामिल.

ये भी पढ़ें- जानें किन मशहूर हस्तियों की एड्स ने ले ली जान

ऐसा मुमकिन हुआ है इंदौर के एमवाय अस्पताल के डॉक्टरों की पॉजिटिव सोच की वजह से. साल 2005 तक हालात ये थे  गर्भवती के HIV पॉजिटिव पाये जाने पर प्रसव के लिये ना तो डॉक्टर राजी होते थे और ना ही नर्सिंग स्टाफ. सभी को फिक्र होती थी कि कहीं वो संक्रमित ना हो जायें. 

ये भी पढ़ें- ऑटो में मर्द बैठे थे तो लड़की को नहीं जाना था- गैंगरेप पर किरण खेर

इन हालात में साल 2006 में अस्पताल की प्रोफेसर डॉ सुमित्रा यादव ने HIV पॉजिटिव महिलाओं के प्रसव की जिम्मेदारी संभाली..सालों में अस्पताल में 90 हज़ार से ज़्यादा महिलाओं की काउंसिलिंग हो चुकी है. इनमें से 339 महिलायें पॉजिटिव निकलीं. जिनका  प्रसव अस्पताल में कराया गया. दूसरे अस्पतालों से भी गर्भवती महिलायें एमवाय अस्पताल रेफर होकर आयीं.

ये भी पढ़ें- मार्क जकरबर्ग की बहन पर विमान में अश्लील कमेंट्स

जागरूकता के चलते जिले में HIV पॉजिटिव मरीजों की तादात कम हो रही है. हालांकि मरीजों की जांच की संख्या तो लगातार बढ़ ही रही है. पर पॉजिटिव मिलने वाले मरीजों की तादात में कमी आ रही है. साल 2011 में 33 हजार 4 सौ 21 मरीजों की जांच में 9 सौ 32 मरीज़ HIV पॉजिटिव मिले. जबकि इस साल अब तक 84 हजार 640 मरीज़ों की जांच हुई है. इनमें से 5 सौ 39 पॉजिटिव मिले हैं.

माता-पिता में से किसी एक के भी HIV पॉजिटिव होने की सूरत में बच्चे के भी HIV पॉजिटिव होने की आशंका होती है. जरूरी है कि फैमिली प्लानिंग से पहले ऐसे लोग डॉक्टर से मिलें. ताकि उनका बच्चा हेल्दी पैदा हो.

 

 

साक्षी शर्मा, IBC24, इंदौर

Trending News

Related News