News

सुशील मोदी ने लालू यादव के बेटे की दुल्हन तलाशने के लिए शर्त रखी

Last Modified - December 4, 2017, 4:33 pm

पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता सुशील कुमार मोदी ने रविवार को अपने बेटे उत्कर्ष तथागत की शादी तो कर ली, लेकिन साथ ही उन्हें मिल गई है एक और दुल्हन तलाश करने की नई जिम्मेदारी। ये दुल्हन उन्हें और किसी के लिए नहीं, बल्कि लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के लिए तलाश करनी है। मजेदार बात ये है कि तेज प्रताप यादव पर ये आरोप लगे थे कि उन्होंने सुशील कुमार मोदी के घर में घुसकर हंगामा करने की धमकी दी थी। बाद में जब सुशील मोदी ने अपने बेटे की शादी की जगह बदली तो इसे उस धमकी से भी जोड़कर देखा गया। अब आप सोच रहे होंगे कि शादी से पहले और शादी के बाद के हालात में आखिर इतना बड़ा फर्क कैसे आ गया, तो हम बताते हैं पूरा माजरा, लेकिन उससे पहले सुशील मोदी के बेटे की शादी की ये तस्वीरें तो देख लीजिए।

देखें तस्वीरें— 

 

तो हुआ ये कि सुशील कुमार मोदी के बेटे की शादी में कई राज्यों के राज्यपाल, कई केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो शामिल हुए ही थे, सुशील मोदी के धुर विरोधी राजद प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव भी मौजूद थे। 

बिहार के पूर्व मंत्री, मौजूदा राजद विधायक और लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को भी सुशील मोदी ने आमंत्रित किया था, लेकिन वो खुद न आकर मीडिया के जरिये नवदंपति को शुभकामनाएं दी। इसी दौरान जब एक पत्रकार ने सवाल किया कि आपकी शादी कब हो रही है, तो तेज प्रताप ने जवाब दिया कि अपने लिए वो दुल्हन ढूंढने की जिम्मेदारी सुशील मोदी को सौंपते हैं क्योंकि बच्चों के लिए दुल्हन तलाशने का काम बड़े-बुजुर्ग करते हैं।तेजप्रताप की ये ख्वाहिश जब सुशील मोदी के पास पहुंची तो उन्होंने कहा कि हम इसके लिए तैयार हैं, लेकिन उन्हें तीन शर्तें माननी होंगी। पहली शर्त ये कि तेज प्रताप दहेज नहीं लेंगे, दूसरी शर्त कि अंगदान करने का संकल्प लें और तीसरी शर्त ये कि वह भविष्य में किसी के भी विवाह में तोड़फोड़ करने की धमकी नहीं देंगे.

देखें ट्वीट--

वैसे इतना तो तय है कि सुशील मोदी और लालू परिवार के बीच पिछले दिनों छठ के समय से शुरू हुई कड़वाहट को मिटाने में इस शादी समारोह में अहम भूमिका निभाई है।

Trending News

Related News