भोपाल News

शिवराज के कदम से खुश मुनव्वर राना ने किताब से हटाया शेर

Last Modified - December 7, 2017, 12:35 pm

भोपाल। मशहूर शायर मुनव्वर राना अपनी शायरी की किताब से अपना एक शेर हटाने जा रहे हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर मुनव्वर राना को क्या हो गया, तो आपको बता दें कि वो किसी नाराजगी में नहीं, बल्कि खुशी में ऐसा करने जा रहे हैं और खुशी का ये मौका उन्हें दिया है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने। पूरा माजरा समझने से पहले देखिए शायर मुनव्वर राना का ये ट्वीट-

मैं अपने इस शेर को अपनी किताब से काटता हूं: 

मेरी गुड़िया सी बहन पानी में गिर कर मर गई, 

क्या ख़बर थी दोस्त मेरा इस क़दर गिर जाएगा।

दरअसल, मुनव्वर राना का ये शेर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों पर दुख जताता है। मध्य प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा दुष्कर्म के मामले दर्ज किए जाते हैं और कई वर्षों से इस स्थिति में सुधार आने की बजाय हालात बदतर ही होते गए हैं।

ये भी पढ़ें- जानिए किस बुरी वजह से देश में नंबर वन है मध्य प्रदेश

दुष्कर्म के मामलों में देश में पहले नंबर पर मध्य प्रदेश के लगातार बने रहने को लेकर निशाने पर आई शिवराज सिंह चौहान सरकार ने 4 दिसंबर को विधानसभा में विधेयक पारित कर 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के दोषियों के लिए फांसी की सज़ा का प्रावधान किया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके उम्मीद जताई कि उनके इस कदम से बेटियों के जीवन में सुरक्षा एवं सम्मान का एक नया सूर्य उदित होगा।

 

 

शिवराज सिंह चौहान के इस कदम ने शायर मुनव्वर राना को इतना खुश कर दिया कि उन्होंने अपनी किताब से शेर हटाने का ऐलान कर दिया। आपको बता दें कि मुनव्वर राना अवार्ड वापस करने वाली हस्तियों में जब शुमार हुए थे, उस वक्त भाजपा समर्थकों ने उनकी जबर्दस्त आलोचना की थी। मुनव्वर राना ने नरेंद्र मोदी सरकार बनने के बाद देश के बदले हालात पर नाराजगी का हवाला देते हुए अवार्ड वापसी का ऐलान किया था। इसके बाद जब वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने गए तो फिर सुर्खियों में उनका नाम आया, इसका जवाब उन्होंने बेहद शायराना अंदाज़ में दिया था कि वो मोदी की मोहब्बत के कर्जदार थे क्योंकि जब उनकी अम्मी का इंतकाल हुआ था तो पीएम मोदी ने अपने हाथों से लिखा हुआ खत उन्हें भेजा था। 

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News