News

महाकाल की विशेष भस्मआरती, मुंबई के सिद्धिविनायक की भी विशेष पूजा

Last Modified - January 1, 2018, 6:18 pm

धार्मिक नगरी उज्जैन में नए साल की शुरुआत बाबा महाकाल की भस्मारती से की गई। देश भर से आए हजारों श्रद्धालुओं ने भस्मारती में शामिल होकर नए वर्ष की मंगलकामना की। नव वर्ष के अवसर पर बाबा महाकाल का आकर्षक श्रृंगार किया गया और महाआरती हुई। ऐसी मान्यता है की बाबामहाकाल की भस्मारती की एक झलक पाने से हर व्यक्ति, विशेष हो जाता है। भस्मारती के साथ ही महाकाल राजा के आंगन में भोले के भजनों का दौर चलता रहा, इन भजनों पर भक्त झूमते गाते नजर आ रहे है।

डिंडौरी के SBI में चोरों का धावा,सुरंग बनाकर ले गए 5 कंप्यूटर और CCTV

विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में नया साल अनूठे अंदाज में मनाया गया। यहाँ देश के कोने कोने से आए श्रद्धालुओं ने सुबह तीन बजे महाकाल की भक्ति में लीन होकर अपने नए साल की शुरुआत की। नए साल की पहली सुबह में बाबा महाकाल का पंचामृत अभिषेक हुआ अर्थात् दूध, दही, घी, शकर व शहद से बाबा को नहलाया गया। उसके बाद चंदन का लेपन कर सुगन्धित द्रव्य चढ़ाए और भाँग से शृंगारित किया गया इस बीच पंडितो द्वारा मंत्रोचारण किए गए। फिर बाबा को श्वेत वस्त्र ओढ़ाकर भस्म रमाई गई।

भस्मिभूत होने के बाद झांझ-मंजीरे, ढोल-नगाड़े व शंखनाद के साथ बाबा की भस्मार्ती की गई। नए साल की भस्मारती में शामिल होने आए श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखा गया। किसी ने अपने परिवार की सुख शांति के लिए कामना की तो किसी ने देश के अमन चेन व समृद्धि को लेकर मत्था टेका। 

शिवराज चौहान ने 2018 को बताया अवसरों का साल

इसी तरह मुंबई के सिद्धिविनायक में भी विशेष आरती का आयोजन किया है, नए साल की शुरूआत में लोगों ने सिद्धिविनायक के दर्शन कर आर्शिवाद लिया और नए साल के लिए मंगलकामाएं की। 

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News