दुर्ग News

पुलिस ने 12 घंटे में सुलझा लिया दुर्ग डबल मर्डर केस की मिस्ट्री

Last Modified - January 2, 2018, 12:21 pm

दुर्ग में सोमवार को हुए डबलमर्डर केस की मिस्ट्री पुलिस ने सोमवार शाम तक ही सुलझा लिया. गंजपारा निवासी कपड़ा कारोबारी और ट्रस्टी जैन दंपति रावलमल जैन और उनकी पत्नी सूरजदेवी का हत्यारा उसका अपना ही बेटा संदीप जैन निकला. 

ये भी पढ़ें- देशभर के 3 लाख से ज्यादा डॉक्टर्स हड़ताल पर, NMC बिल का विरोध

 डबल मर्डर केस पर IG दीपांशु काबरा से खास बातचीत

   

 

पुलिस की शक की सुई शुरू से ही संदीप पर थी और पुलिस का यह शक सही साबित हुआ आरोपी बेटे ने पूछताछ में गुनाह कबूल लिया है। पुलिस का कहना है कि संदीप को वायदा कारोबार में करोड़ों का नुकसान हुआ था जिसकी भरपाई करने से रावलमल जैन मणि ने इनकार कर दिया, गुस्से में आरोपी ने अपने बुजुर्ग मां-बाप पर ताबड़तोड़ गोली चला दी. आरोपी ने पिता को ठिकाने लगाने के लिए उस दिन को ही चुना जिस दिन उसके पिता का जन्मदिन था. रावमल के जन्मदिन पर समाज के लोग शाम को उनका सम्मान करने वाले थे. 

  

 

ये भी पढ़ें-दुर्ग डबल मर्डर केस: बेटा ही निकला माता-पिता का हत्यारा

   

 

DURG double murder case mystery

A post shared by Abhishek Mishra (@abhi_sayz) on

 

सोमवार शाम को दुर्ग जिले के नगपुरा गांव में रावलमल जैन ‘मणि’ और उनकी धर्मपत्नी सूरजदेवी की अंत्येष्टि हुई जिसमें मुख्यमंत्री रमन सिंह भी शामिल हुए। सीएम ने जैन दम्पत्ति को श्रद्धांजलि अर्पित की। शोकसभा में मुख्यमंत्री ने कहा- श्री रावलमल जैन ‘मणि‘ और उनकी धर्मपत्नी का निधन मेरे लिए भी व्यक्तिगत क्षति है। आज वे हमारे बीच नहीं हैं, यह क्षण बहुत पीड़ादायक है। 

  

 

double murder case

A post shared by Abhishek Mishra (@abhi_sayz) on

 

मुख्यमंत्री ने श्री जैन के साथ अपने वर्षों पुराने आत्मीय संबंधों को भारी हृदय से याद किया। सीएम ने कहा- श्री जैन से दिल्ली में पहली मुलाकात हुई थी। तब से अब तक अनेक अवसरों पर उनके साथ मिलना-जुलना होता रहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्गीय रावलमल जैन सहज-सरल स्वभाव के थे। वे अपना कोई भी काम दृढ़संकल्प के साथ करते थे। सीएम ने बताया कि रावलमल जैन ने अनेक किताबों की रचना की, जिनके विमोचन का सौभाग्य मुझे मिला।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News