News

नए साल के स्वागत में रायपुर ने पी 5 करोड़ की शराब, काटा 25 लाख का केक

Created at - January 2, 2018, 2:26 pm
Modified at - January 2, 2018, 2:26 pm

रायपुर। हर मौके और हर त्योहार का जमकर लुत्फ उठाने वाले रायपुरियंस ने इस साल नए साल का भरपूर स्वागत किया। आम तौर पर रायपुर में औसतन 1 करोड़ 35 लाख रुपये की शराब रोजाना बिकती है, लेकिन 31 दिसंबर को ये आंकड़ा तीन गुना बढ़ गया। आबकारी विभाग के मुताबिक राज्य में सबसे ज्यादा शराब की बिक्री रायपुर में ही हुई है, जहां पिछले दो दिनों में रिकॉर्डतोड़ खरीदी हुई। शराब दुकानों के अलावा राजधानी के 90 से ज्यादा बार और होटल्स में वाइन पार्टी की विशेष अनुमति ली गई थी। एक दर्जन से ज्यादा बड़े होटल्स में न्यू ईयर सेलिब्रेशन के लिए प्रति कपल चार से आठ हजार रुपये की एंट्री फीस रखी गई थी, जिसमें एक अनुमान के मुताबिक तीन हजार से ज्यादा लोगों ने एंट्री ली। ज्यादातर बड़े होटल्स में म्यूज़िकल नाइट का आयोजन था, जिसमें देर रात तक लोग थिरकते, मौज-मस्ती करते रहे।

ये भी पढ़ें- नए साल में अजित जोगी ने जारी की आठ प्रत्याशियों के नाम की लिस्ट

वैसे शराब खपत के मामले में छत्तीसगढ़ में रायपुर पहले से अव्वल रहा है। प्रदेश के अबकारी मंत्री अमर अग्रवाल ने विधानसभा में शीतकालीन सत्र में अप्रैल 2017 से नवंबर 2017 तक के 8 महीने के जो आंकड़े पेश किए थे, उनमें भी पूरे प्रदेश में 24 अरब 22 करोड़ 47 हजार 8 सौ 88 रुपए की शराब की बिक्री की जानकारी दी थी, जिसमें सिर्फ रायपुर में 3 अरब 89 करोड़ 86 लाख 49 हजार 7 सौ 91 रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ है. दूसरे नंबर पर दुर्ग जिला रहा, जहां 2 अरब 33 करोड़ 46 लाख 68 हजार 1 सौ 84 रुपए और तीसरे नंबर पर बिलासपुर है, जहां 1 अरब 62 करोड़ 43 लाख 48 हजार 2 सौ 36 रुपए की शराब 8 महीने में पी गई थी। 

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ में अरबों की कॉकटेल पार्टी, 8 महीने में डकार गए 24 अरब की शराब

लेकिन, ऐसा भी नहीं है कि रायपुरियंस ने सिर्फ शराब पीने में नए साल पर नया रिकॉर्ड बनाया है। इस बार पिछले वर्षों की तुलना में केक भी ज्यादा कटे और केक की खरीदारी भी पच्चीस लाख रुपये से ज्यादा की हुई। राजधानी में चार दर्जन बेकरी और कॉनफेक्शनरी शॉप्स में 31 दिसंबर की शाम होते-होते केक निपट चुके थे। ज्यादातर बेकरियों के पास 30 दिसंबर को ही ऑर्डर आ चुके थे, इसके अलावा उन्होंने अपनी ओर से भी 100-200 केक तैयार रखे थे। कई जगहों पर 31 दिसंबर के लिए एक किलो से कम के केक के ऑर्डर नहीं लिए जा रहे थे। अनुमान है कि केक का कारोबार 25 लाख के पार पहुंच गया।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News