News

डोनाल्ड ट्रंप के "नो मोर" ट्वीट से बौखलाया पाकिस्तान, अमेरिकी राजदूत तलब

Created at - January 2, 2018, 2:53 pm
Modified at - January 2, 2018, 2:53 pm

वेब डेस्क। डोनालड ट्रंप के एक ट्वीट ने पाकिस्तान का नया साल खराब कर दिया, अमेरिकी राष्ट्रपति ने नए साल के पहले दिन पाकिस्तान पर आतंकवाद को प्रमोट करने का आरोप लगाते हुए अपने पर्सनल ट्वीटर अकाउंट से सिर्फ एक ट्वीट किया और बैठे बैठाए पाकिस्तानी सियासत को उपर से नीचे तक हिलाकर रख दिया। ट्रंप ने अपने ट्वीट में बेहद सख्त लहजे में लिखा अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण तरीके से बीते 15 सालोें में पाकिस्तान को 33 अरल डाॅलर से ज्यादा की मदद दी है, लेकिन बदले में उन्होंने हमें झूठ और छल के सिवाय कुछ नहीं दिया। हमारे नेताओं को मूर्ख समझा, जिन आतंकियों को हम अफगानिस्तान में खोज रहे थे, उन्हें पाकिस्तान ने छुपा रखा था। पाकिस्तान ने कुछ नहीं किया, बस ये सब अब और नहीं चलेगा।

देखें - 

राष्ट्रपति ट्रंप के इस ट्वीट से बाद पाकिस्तान बौखला गया और अब्बासी सरकार ने अमेरिकी राजदूत को तलब कर ट्रंप के इस ट्वीट का विरोध जताया। लेकिन अमेरिकी सहायता रूकने का डर इस बात से जाहिर हुआ कि इस ट्वीट के ठीक बाद पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठनों पर तरह-तरह के बैन लगाने शुरू कर दिए इतना ही नहीं पाकिस्तान ने सईद के संगठन जमात-उद-दावा को आर्थिक मदद देने पर रोक लगा दी इसी के साथ सईद के दूसरे संगठन फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन को चंदा देने पर भी पूरी तरह बैन लगा दिया।

 

भारत की कूटनीतिक जीत

वहीं दूसरी ओर अमेरिकी राष्ट्रपति के पाकिस्तान और आतंकवाद के खिलाफ सख्त संदेश से भारत में नरेंद्र मोदी नित सरकार के मंत्री और उनकी पार्टी के नेता इसे भारत और नरेंद्र मोदी की कूटनीतिक जीत बता रहे है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसे मोदी की कूटनीतिक जीत बताते हुए उन्हे इसके लिए बधाई का पात्र बताया। उन्होंने आगे कहा कि हमारे प्रधानमंत्री की कोशिशों से आज पाकिस्तान पूरी दुनिया से अलग-थलग पड़ गया है। पाकिस्तान का चेहरा दुनिया के सामने आ गया है और यही कारण है कि अमेरिका ने भी फंडिग बंद कर दी है। 

 

पाकिस्तान की सहायता राशि रोकेगा अमेरिका

सूत्रों के हवाले से कुछ दिनों पहले ही खबर आई थी की अमेरिका पाकिस्तान को दी जाने वाली 1600 करोड़ रूपए की सहायता राशि रोकने पर विचार कर रहा है। इन्ही खबरों के बीच राष्ट्रपति डोनालड ट्रंप का यह ट्वीट उन खबरों पर मुहर लगाने के लिए काफी है कि अमेरिका पाकिस्तान की सहायता राशि रोकने पर सिर्फ विचार ही नहीं कर रहा बल्की वह ऐसा करने वाला है। 

 

अमन वर्मा, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News