News

छत्तीसगढ़ पुलिस ने नहीं लिखी गैंगरेप पीड़िता की रिपोर्ट, खुले घूम रहे आरोपी

Last Modified - January 2, 2018, 9:16 pm

मुंगेली जिले के पथरिया थाना इलाके में रहने वाली एक अनुसूचित जाति की महिला ने गांव के तीन युवकों पर गैंग रेप का आरोप लगाया है। महिला के साथ बुरी तरह मारपीट भी की गई है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेता इस महिला को लेकर मंगलवार को आईजी आफिस पहुंचे और वहां लिखित में पूरी शिकायत की। ढोढापुर में रहने वाली एक महिला ने आरोप लगाया है कि उसी के गांव में रहने वाले तीन युवक करण राजपूत, खुलेश्वर और जितेंद्र राजपूत ने 27 तारीख को उसे उसके घर से जबरिया उठा लिया और अपने घर ले गए। वहां इन तीनों ने उसके साथ जमकर मारपीट की और फिर सामूहिक बलात्कार किया।

अपने विधानसभा क्षेत्र से सीएम रमन सिंह ने शुरू किया जनसंपर्क अभियान

उसके मां बाप उसी समय पथरिया थाने पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें भगा दिया। 28 तारीख को ये लोग मुंगेली एसपी के पास गए। पीड़ित महिला के मुताबिक वहां से उनके साथ एक कांस्टेबल पथरिया थाने भेजा गया, लेकिन उस समय वहां धरमलाल कौशिक और लखन साहू बैठे थे वो जैसा कह रहे थे पुलिस वैसा बयान लिख रही थी। उसकी रिपोर्ट तो दर्ज कर ली गई, लेकिन आरोपी युवकों की गिरफ्तारी नहीं की है।

भाजपा मुझे मारना चाहती है - अजीत जोगी

युवक खुलेआम घूम रहे हैं और इनके परिवार वालों को धमकी दे रहे हैं, जब स्थानीय स्तर पर कार्रवाई नहीं हुई तो बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक और जोगी कांग्रेस के नेता इस महिला और उसके परिवार को लेकर आईजी कार्यालय आ गए, यहां इन लोगों ने ज्ञापन दिया। सियाराम कौशिक ने इसे पुलिस की तानाशाही बताया।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News