News

भारत माता की आरती करना चाहते थे छात्र, पुलिस ने जमकर पीटा

Created at - January 4, 2018, 6:33 pm
Modified at - January 4, 2018, 6:33 pm

विदिशा। 11 जनवरी को संघ प्रमुख मोहन भागवत के आगमन पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद संघ द्वारा जिले भर के कॉलेजों में भारत माता की आरती का कार्यक्रम चल रहा था। उसी सिलसिले में आज विदिशा के सेंट मेरी कॉलेज में भारत माता की आरती की जानी थी, चूंकि कॉलेज मिशनरी है तो कॉलेज के फादर ने आरती की अनुमति नही दी। अनुमति नहीं मिलने के बावजूद हजारों की संख्या में कार्यकर्ता आरती के लिए कॉलेज के बाहर इकठ्ठा हुए। स्थिती को नियंत्रित करने के लिए भारी मात्रा में पुलिस बल काॅलेज के अंदर मौजूद था इतना ही नहीं मौके पर वाटर केनन की गाड़ियां भी मौजूद था। इस दौरान लगभग 4 हजार से अधिक एबीवीपी कार्यकताओं ने कॉलेज के अन्दर घुसने की कोशिश की तो पुलिस ने कार्यकताओं पर लात-घुसे बरसाना शुरू कर दिया। पुलिस की सख्ती के बावजूद कार्यकर्ता नही मानने, पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच लगभग 4 घंटे तक ड्रामा जारी रहा। 

कॉलेज के बाहर पुलिस और एबीवीपी कार्यकर्ताओं की हाथापाई जारी थी वहीं दूसरी ओर काॅलेज के अंदर क्लास में मौजूद एबीवीपी के कार्यकर्ताओं  क्लास रुम में आरती करनी चाही लेकिन पुलिस और प्रबंधन ने उनकी भी पिटाई कर दी। इस दौरान सेंट मेरी कॉलेज छात्र संघ सचिव सुरेन्द को कमरे में बंद पर पीटा गया। पुलिस की इस बारबर्ता से कई छात्रों के चेहरों पर चोट आई। जिसके बाद एबीवीपी कार्यकर्ता देहात थाना पहुचे जंहा दोषी पुलिसकर्मी और कॉलेज प्रबंधन पर कार्रवाई के लिए आवेदन दिया गया है। कॉलेज में आरती नही करने दिए जाने से नाराज कार्यकर्ताओं ने  16 जनवरी को विदिशा में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। इस दौरान कुछ पेरेंट्स भी कॉलेज के बाहर पहुंचे और नारे बाजी की।

इस्लाम इतना कमज़ोर नहीं है कि सिर्फ गीता के उच्चारण से हमें नकार दे - आलिया

वहीं मौके पर पूरा जिला पुलिस बल से लेकर जिला प्रशासन मौजूद रहा, कलेक्टर अनिल सुचारी का कहना है कि कुछ लोग माहौल बिगाड़ रहे थे उन्हें रोक गया है। वहीं जब पूछा गया कि क्या प्रशासन को कॉलेज प्रबंधन को आरती के लिए मनाना नहीं था तो उन्होंने यह कहते हुए अपना पक्ष रखा की वह अल्पसंख्यक कॉलेज है।

 

वेब डेस्क, ibc24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News