News

बीमार मां को छत से फेंककर की हत्या, क्या यही है एक बेटे का फ़र्ज़?

Last Modified - January 6, 2018, 3:45 pm

मां' और मां की ममता अपरिभाषित है। मां अपने बच्चों के लिए वो मजबूत नींव है, जिसके ऊपर वो अपने जीवन-चक्र की इमारत का निर्माण करते हैं। हमारे लिए मां शब्द सपूर्ण संसार जैसा है. 

आज हम आपको मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना से रू-ब-रू करा रहे हैं। जिसके बाद आप महसूस करेंगे कि आज के सामाजिक परिवेश में लोग किस प्रकार बेटा या बेटी होने का फर्ज अदा कर रहे हैं. 

दसरअल, राजकोट में मानवता को शर्मसार करने देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक बेटे ने अपनी मां की छत से फेंककर हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि आरोपी की मां को ब्रेन हैमरेज था. वह चलने फिरने में लाचार थी. मां के देखभाल और इलाज से तंग आकर उसने इस घटना को अंजाम दिया.  बताया जा रहा है कि राजकोट के गांधीग्राम के दर्शन एवेन्यू में रहने वाली जयश्रीबेन विनोदभाई नाथवानी को ब्रेन हैमरेज था। वह चलने-फिरने में भी असमर्थ थी।

ये भी पढ़ें-बेटी ने बुजुर्ग मां-बाप को घर से निकाला, बस स्टैंड पर गुजारनी पड़ी रात

मिली जानकारी के अनुसार,  यह घटना दो महीने पहले की है जब आरोपी बेटे ने सभी को यह खबर दी कि उसकी मां ने छत से कूद कर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने भी इस मामले को आत्महत्या मानकर फाइल बंद कर दी थी। वारदात के दो महीने बाद पुलिस को एक गुमनाम चिट्ठी आई और उसमें बताया गया कि महिला ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उसकी हत्या की गई है। पुलिस ने चिट्ठी के आधार पर फिर से जांच शुरू की 

देखिए सीसीटीवी फुटेज- 

जब पुलिस ने सोसायटी के सीसीटीवी खंगाले तो हैरान रह गई। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा था कि आरोपी बेटा संदीप अपनी मां को लिफ्ट से छत की ओर ले जा रहा है। ऊपर ले जाकर उसने मां को छत से फेंक दिया।

ये भी पढ़ें- इंदौर बस हादसे की मृतक बच्ची की आंखें रौशन करेंगी किसी की जिंदगी

जब पुलिस ने बेटे से पूछताछ की तो उसका कहना था कि वह मां को पूजा के लिए छत पर लेकर गया था।  पुलिस की सख्ति पर आरोपी ने कबूला कि उसकी मां काफी समय से बिस्तर पर थी और वह उसकी बीमारी से परेशान हो गया था इसलिए उसने मां को मारने की योजना बनाई। सच में इस तरह की घटनाएं मानवता पर कलंक हैं

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News