News

लालू पर बोले जज, खुली जेल बेहतर ताकि गौपालन का भी अनुभव हो

Last Modified - January 6, 2018, 3:46 pm

रांची। चारा घोटाले में लालू प्रसाद यादव समेत 5 दोषियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग पर सजा सुनाने से पहले विशेष सीबीआई अदालत के जज की एक दिलचस्प टिप्पणी आई है। समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से आई इस ख़बर के मुताबिक वीडियो कांफ्रेंसिंग पर इस मामले की आज की सुनवाई के दौरान सीबीआई जज ने कहा कि ऐसे मामलों के आरोपियों के लिए खुली जेल सबसे अच्छी जगह हो सकती है क्योंकि वहां इन्हें खुले में गौपालन (गाय चराने) का भी अनुभव मिल सकता है।

अदालत ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख समेत चारा घोटाले की केस संख्या 64 ए/ 1996 में सजा सुनाने के लिए आज दोपहर 2 बजे का वक्त निर्धारित किया था। ये सज़ा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुनाई जानी है। आज की कार्रवाई शुरू होने के बाद ये ख़बर आई कि सज़ा का ऐलान चार बजे होगा।

23 दिसंबर को जब लालू प्रसाद यादव को इस मामले में अदालत ने दोषी करार दिया था, उस दिन सज़ा के ऐलान की तारीख 3 जनवरी बताई गई थी। इस बीच, सज़ा कितनी हो, इसे लेकर सुनवाई का दौर चलता रहा। अभी तक सज़ा तो नहीं सुनाई जा सकी है, लेकिन जज साहब की टिप्पणियां जरूर चर्चा में हैं। बताया जाता है कि पिछली सुनवाई के दौरान जब लालू प्रसाद ने उनसे ये कहा था कि जज साहब जेल में बहुत ठंड लग रही है तो जज ने कहा था कि तबला बजाइए और मस्त रहिए। अब खुली जेल की ये ताजा टिप्पणी सामने आई है।

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News