News

हंटरवाली फियरलेस नादिया के जन्मदिन पर गूगल ने डूडल से किया याद

Last Modified - January 8, 2018, 12:46 pm

गूगल ने आज नादिया के जन्मदिन को  खास बनाने के लिए उसका  हंटरवाला डूडल बनाया है. आपको बता दें कि नादिया का जन्म  8 जनवरी, 1908 को ऑस्ट्रेलिया में हुआ था उन्हें बचपन से ही भारत के कल्चर से प्रेम था। जब वो पांच साल की थी तो भारत आ गयी। उन्होंने हिंदी फिल्मो में आने से पहले बंदूक चलना घुड़सवारी और स्टंट करना सीख लिया था। उनका असली नाम मैरी एन इवांस था लेकिन फिल्म में आने के लिए उन्होंने अपना शार्ट नाम फियरलेस नादिया रख लिया जो बाद में सिर्फ नादिया नाम से प्रसिद्ध हो गया। 

 

नादिया हर फिल्मों में एक स्टंट दिखाती थी उन्हें  हैरतअंगेज स्टंट्स की वजह से खास पहचान मिली .ऑस्ट्रेलिया से होने के बाद भी नादिया ने  हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में बतौर एक्ट्रेस और स्टंटवूमन के तौर पर खास पहचान बनाई थी। गूगल ने आज उनका जो डूडल बनाया है उसकी भी खास वजह है। कहते हैं आज तक फिल्म इंडस्ट्री में उनके जैसी स्टंट वूमन नहीं हुई है वे अपनी फिल्मों के सारे  स्टंट खुद करती थी जिसे देखकर अच्छे अच्छे स्टंटबाज दांतो तले उंगली दबाते थे।आपको बता दें क  नादिया की चर्चित फिल्म 1935 की 'हंटरवाली'  थी इसी फिल्म की वजह से उनका नाम हंटरवाली पड़ गया था.उन्होंने बहुत सी फिल्मों में काम किया जिनमे कुछ खास फिल्म रही  देश दीपक और नूर-ए-यमन   लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा प्रसिद्धि मिली 'हंटरवाली' से 

हंटरवाली मे स्टंट्स में अपने हाथ दिखाने के बाद तो उनकी हर फिल्म ही इस तरह की रहने लगी. वे जेम्स बॉन्ड पर बनी स्पूफ फिल्म 'खिलाड़ी' में भी नजर आई थीं. उन्होंने कई ऐसे स्टंट किए जिनमें उनकी जान को भी खतरा था लेकिन उन्होंने इसकी परवाह कभी नहीं की. फियरलेस नादिया को भारत की स्टंट क्वीन'' भी कहा जाता है.दिलचस्प यह है कि फियरलेस नादिया को परदे पर एक बार फिर लाने का काम विशाल भारद्वाज ने किया. उन्होंने अपनी फिल्म 'रंगून' में जांबाज जूलिया नाम के कैरेक्टर की रचना की जो काफी कुछ फियरलेस नादिया जैसी थी. 

IBC24  रेनू नंदी 

 

Trending News

Related News