News

सिरकट्टी आश्रम धार्मिक आस्था एवं सामाजिक समरसता का केन्द्र - डॉ रमन सिंह 

Last Modified - January 8, 2018, 5:06 pm

धार्मिक अनुष्ठान में शामिल होना हर राजनेता का महत्वपूर्ण कार्य होता है। कल शाम  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गरियाबंद जिले के छुरा विकासखंड के ग्राम कुटेना स्थित चतुर्भुज सिरकट्टी आश्रम जा कर श्री रामजानकी मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम में शिरकत की। बता दें कि  इस मंदिर का निर्माण करीब 10 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। इस शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने गुरूदेव मंदिर में पूजा अर्चना की और प्रदेश के सुख-शांति एवं समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर उन्होंने आश्रम परिसर में स्थित गुरूकुल विद्यालय के लिये 30 लाख रूपए स्वीकृत करने की घोषणा की।

    मुख्यमंत्री ने आश्रम के संस्थापक संत सिया भुनेश्वरी शरण को याद करते हुये कहा कि इस स्थान को उन्होंने अपनी तपस्या व मेहनत से एक तीर्थ के रूप में बदल दिया। आज सिरकट्टी आश्रम धार्मिक आस्था के साथ सामाजिक समरसता का भी केन्द्र बन चुका है. आश्रम का दरवाजा सबके लिये खुला है। यह स्थान शिक्षा केन्द्र के रूप में भी विकसित हो रहा है. डॉ. सिंह ने भक्तीन माता राजिम जयंती पर अपनी शुभकामनाएं देते हुये कहा कि राजिम कुंभ के दौरान राजिम में एस.डी.एम. कार्यालय का विधिवत् शुभारंभ किया जावेगा, जिससे क्षेत्र के लोगों  की बहुप्रतिक्षित मांग पूरी हो जाएगी

 

इस कार्यक्रम को सांसद श्री चंदूलाल साहू तथा विधायक श्री संतोष उपाध्याय ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में संसदीय सचिव श्री गोवर्धन मांझी, सिहावा विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री श्रवण मरकाम, राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष चन्द्रशेखर साहू सिरकट्टी आश्रम के महामंडलेश्वर संत श्री गोवर्धनशरण व्यास, साघ्वी प्रज्ञा भारती सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे.

Trending News

Related News