News

छत्तीसगढ़ के 27 युवा बनेंगे एक दिन का कलेक्टर

Last Modified - January 8, 2018, 6:18 pm

रायपुर -रमन सरकार अपने आने वाले चुनाव में युवाओं का भी पूर्ण वोट पाना चाहती है जिसके तहत आज वो छत्तीसगढ़ के युवाओं को लेकर  इतिहास रचने जा रही है.आपने नायक फिल्म तो देखी होगी  जिसमे अनिल कपूर को एक दिन का नायक अर्थात मुख्यमंत्री बनने का मौका दिया गया था.लेकिन छत्तीसगढ़ में ठीक इसके अपोजिट मुख्यमंत्री स्वम युवाओं को एक दिन का कलेक्टर बना रहे हैं। 

ये भी पढ़े - रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्वनी लोहाणी ने रायपुर स्टेशन को दिया डाक्टर की सौगात

दरअसल ये कार्यक्रम  मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के कार्यकाल के 14 वर्ष पूर्ण होने और स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर में ग्रास रूट स्तर पर छत्तीसगढ़ के युवाओं को राज्य सरकार की योजनाओं से जोड़ने के लिए आयोजित किया जा रहा है  “यूथ स्पार्क- खेलेगा छत्तीसगढ़ जीतेगा छत्तीसगढ़” प्रतियोगिता के सर्वश्रेष्ठ 27 प्रतिभागी हैं,ये प्रतिभागी प्रदेश भर के 519 कॉलेज के लगभग 5 लाख युवाओं से चार चरणों में कड़ा संघर्ष करने के बाद अंतिम पांचवे चरण में पहुंचे हैं |

 

प्रतियोगिता का अंतिम चरण 9 जनवरी को  आयोजित किया जा रहा है | इस चरण में सभी 27 प्रतिभागी एक दिन के लिए कलेक्टर (shadow) की भूमिका में जिला कलेक्टर के साथ प्रशासनिक कार्यों में सम्मिलित होंगे . इस दौरान होने वाली बैठक, विभागों की समीक्षा बैठक, विभिन्न कार्यों का निरीक्षण एवं विभिन्न समस्याओं के निदान की प्रकिया में शामिल होंगे | इस हेतु राज्य शासन द्वारा सभी जिला कलेक्टर को निर्देश दे दिए गए हैं .

ये भी पढ़े - मुख्यमंत्री ने किया आज ’उद्यानिकी विकास का उभरता सितारा पुस्तक’ का विमोचन

 

कार्यक्रम संयोजक श्री दानसिंह देवांगन ने बताया कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार डिजिटल प्लेटफार्म पर इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है | पांच चरणों में आयोजित इस प्रतियोगिता के दूसरे चरण में 9500 युवाओं को छत्तीसगढ़ के इतिहास, संस्कृति, राजनैतिक, सामाजिक सरोकारों की कसौटी का कसा गया | इस चरण में 4000 युवाओं का चयन किया गया |  तीसरे चरण में युवाओं की तत्काल निर्णय लेने की क्षमता को परखते हुए उनकी ब्रेन मैपिंग की गयी |  इस चरण में केवल 20 मिनट में ही मोबाइल पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करना था | इसमें से 100 युवाओं को चौथे चरण के लिए चयनित किया गया |चौथे चरण में उनके प्रेजेंटेशन, बोलने की क्षमता, भाषा पर पकड़, दिए गए विषय की गहराई कितनी है? इस पर उनका इम्तिहान लिया गया | इस चरण में प्रतिभागियों को राज्य शासन की योजनाओं में से किसी एक योजना पर अध्ययन कर उन्हें 3 मिनट की विडियो बनाने का टास्क दिया गया था | इसमें से 27 प्रतिभागियों का चयन पांचवे चरण के लिए भेजा गया .

 

पांचवे चरण के लिए चयनित सभी प्रतिभागी 9 जनवरी को सुबह 10:30 बजे से अपने- अपने आबंटित जिलों में जिला कार्यालय पहुचकर कलेक्टर (shadow) की भूमिका में जिला कलेक्टर के साथ सभी गतिविधियों में भाग लेंगे | दिनभर की गतिविधियों में भाग लेने के बाद सम्बंधित जिले की ताकत क्या है, उसकी समस्या क्या है, कैसे उसका समाधान निकाला जा सकता है | वर्तमान में उपलब्ध संसाधन में ही जिले को कैसे देश का सर्वश्रेष्ट जिला बना सकते हैं? उसकी क्या कार्ययोजना हो सकती है ?  इस पर उन्हें शाम को 5 बजे के बाद 3 मिनट का स्वयं का विडियो बनाकर दिए गए लिंक पर अपलोड करने का टास्क दिया गया है। आपको बता दें कि  27 प्रतिभागियों में से टॉप 3 विजेता का चयन सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी, वरिष्ठ पत्रकार, साहित्यकारों की जूरी 10 जनवरी को करेगी | इस प्रतियोगिता के प्रथम विजेता को 51,000 रूपये , द्वितीय को 31,000 रूपये और तृतीय को 21,000 का पुरस्कार दिए जायेंगे | इन्हें 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर रायपुर के इनडोर स्टेडियम में आयोजित  युवा उत्सव में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह सम्मानित करेंगे। 

Trending News

Related News