News

माना बाल संप्रेक्षण गृह में दो गुटों के बीच खुनी मंजर

Created at - January 9, 2018, 11:39 am
Modified at - January 9, 2018, 11:39 am

रायपुर -माना बाल संप्रेक्षण गृह में लड़ाई झगड़ा होना आम बात है.यहाँ रहने वाले बालक कभी एक दूसरे से ही भीड़ जाते हैं कभी बहार के लोग आकर इनसे भिड़ते हैं। इसी के चलते  आज सुबह एक बार फिर दो गुटों में झगड़े की बात सामने आ रही है घटना आज सुबह की है.बताया जा रहा है कि  जब अपचारी बालकों के नहाने और नाश्ते का समय हुआ था तभी अचानक किसी बात को लेकर पुराने अपचारी और रंगदारों के गुट  में मारपीट शुरू हो गयी। 

ये भी पढ़े -- छत्तीसगढ़ के 27 युवा बनेंगे एक दिन का कलेक्टर

यहाँ निवास करने वाले बालकों की माने तो इनकी रंगदारी और बार बार की गालीगलौच से त्रस्त होकर वे भी एक  जुट होकर दूसरे गुट पर हमला बोल दिए विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि इस गैंगवार के दौरान सम्प्रेषण गृह का दरवाज़ा भी अंदर से इन लोगों ने बंद रखा था। खबर है कि दोनों गुटों में चाकूबाजी भी हुई है। वही आधा दर्जन बच्चों को गंभीर चोटें आई है। जैसे तैसे प्रबंधन ने इसकी सुचना पुलिस को दी। 

मौके पर पहुंची पुलिस को भी संप्रेक्षण गृह का दरवाजा अंदर से बंद मिला, लिहाजा पुलिस को भी दीवार फांद कर भीतर जाना पड़ा। इस खूनी गैंगवार में कई बालकों को गंभीर चोटें आई हैं। इधर माना थाना प्रभारी से जब इस मामले में संपर्क किया गया तो उन्होंने फिलहाल बच्चों की मरहम पट्टी का हवाला देते हुए किसी भी तरह की जानकारी से इंकार कर दिया है.


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News