रतलाम News

रतलाम में गंगा आरती जैसा नजारा, दीप यज्ञ में जले 1.21 लाख दीये

Created at - January 9, 2018, 11:41 am
Modified at - January 9, 2018, 11:41 am

रतलाम, मध्य प्रदेश। झाली तालाब का नजारा सोमवार शाम को वाराणसी या हरिद्वार के गंगा घाट जैसा लग रहा था। यहां दीप यज्ञ में 1 लाख 21 हजार दीपक प्रज्ज्वलित किए गए, जिससे तालाब तट पर मनोरम दृश्य बन गया। जन अभियान परिषद के इस दीप यज्ञ में बड़ी संख्या में नगरवासी मौजूद थे। ये आयोजन एकात्म यात्रा के रतलाम पहुंचने के अवसर पर किया गया था। जगतगुरु आदि शंकराचार्य के अद्वैत दर्शन के प्रसार और 108 फीट ऊंचाई की प्रतिमा की स्थापना और सामाजिक समरसता के मकसद से मध्य प्रदेश में एकात्म यात्रा निकाली गई है, जिसकी शुरुआत नर्मदा नदी के उदगम स्थल अमरकंटक से हुई थी। यही यात्रा रतलाम पहुंची है।

देखें तस्वीरें-

 

ये भी पढ़ें- सुकमा में आज जनकारवां का पड़ाव, जनता की आवाज बनेगा IBC24

जगतगुरु आदि शंकराचार्य ने अद्वैतवेदांत का संदेश दिया था, उन्होंने समूचे विश्व को एकात्मकता की राह दिखाई थी। इसी संदेश को मध्य प्रदेश के जन-जन तक पहुंचाने के लिए एकात्म यात्रा निकाली गई है, जिसके रतलाम पहुंचने पर जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जनसंवाद कार्यक्रम विभिन्न इलाकों में किए गए, जहां जनता को यात्रा में भाग ले रहे संतों के प्रवचन, उनकी वाणी और संदेश सुनने का अवसर मिला।

ओंकारेश्वर में जगतगुरु आदि शंकराचार्य कीप्रतिमा स्थापित करने के लिए धातु संग्रहण एवं जनजागरण के लिए शुरू हुई इस ओंकारेश्वर एकात्म यात्रा ने सोमवार को सुजलाना से रतलाम शहर में प्रवेश किया।

ये भी पढ़ें- 'एन इवनिंग विद जोगी': 11 हजार देकर अजीत जोगी के साथ डिनर करेंगे सौ लोग 

मंगलवार को ये यात्रा रतलाम से सुबह 9 बजे से रवाना हुई है और अलग-अलग पड़ावों से गुजरती हुई रात में जावरा पहुंचेगी। जावरा में इस यात्रा का आज का रात्रि विश्राम होगा। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद एकात्म यात्रा को लेकर काफी सक्रिय हैं और उन्होंने सामाजिक समरसता और जागरुकता के इस अभियान में बड़ी संख्या में लोगों से भाग लेने की अपील की है।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News