रायपुर News

कलेक्टर शेडो बनकर खुशी हुई अब असल कलेक्टर बनने का सपना पूरा करूंगी- चेतना देवांगन  

Last Modified - January 10, 2018, 1:35 pm

 

चेतना उन 27 जिलों की शीर्ष प्रतिभागियों में हैं, जो यूथ स्पार्क-खेलेगा छत्तीसगढ़, जीतेगा छत्तीसगढ़, के पांचवे चरण में पहुंचकर कल एक दिन के लिए शेडो कलेक्टर बनीं।

ये भी पढ़ें- सैनेटरी नेपकीन को GST के दायरे से बाहर करने अनोखा विरोध प्रदर्शन

शासकीय बिलासा गर्ल्स कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रही चेतना देवांगन को कल दिन भर कलेक्टर के साथ-साथ प्रशासनिक अनुभव हासिल करने का अवसर मिला, जिसपर चेतना ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह एक दिन के लिए कलेक्टर की परछाई के रूप में काम करके बहुत खुश है।

ये भी पढ़ें- कार्तिक मर्डर केस: अवैध संबंध में अंधी मां ने प्रेमी से मिलकर की बेटे की हत्या

उसने कल जाना कि शासन की लोक कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन बहुत महत्वपूर्ण दायित्व है। यह महसूस हुआ कि कलेक्टर का काम बहुत चुनौतीपूर्ण है। फरियादियों की शिकायतों का निराकरण कैसे किया जा सकता है,  यह समझने का प्रयास किया।

ये भी पढ़ें- अतिक्रमण हटाने के दौरान टीआई के पैर में चला पोकलेन

शासकीय कार्यों का अवलोकन करने का भी अवसर मिला। शाम पांच बजे तक वह कलेक्टर की शेडो रही,  यह दिन यादगार है। चेतना ने आगे कहा कि वह सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही है, एक दिन खुद ऐसी जिम्मेदारी संभालना चाहेगी।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News