News

कश्मीर के लोगों को जो भी मिलना है, वो इसी मुल्क से मिलेगा- महबूबा मुफ्ती

Last Modified - January 10, 2018, 5:26 pm

श्रीनगरजम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आज राज्य विधानसभा में कहा कि राज्य की जनता को जो कुछ भी मिलना है, वो राज्य और केंद्र सरकार से ही होना है। उन्होंने सदन में अपने संबोधन के जरिये राज्य की जनता से कहा कि हम जम्मू-कश्मीर के संविधान को, मुल्क (भारत) के संविधान को नहीं मानते तो फिर किसको मानते हैं? उन्होंने कहा कि अगर आप इन्हें नहीं मानते तो फिर आपको मिलने वाला क्या है और मिलेगा कहां से? महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वो रिकॉर्ड पर ये बात कहना चाहती हैं कि जम्मू और कश्मीर के लोगों को जो मिलने वाला है वो इसी मुल्क से मिलेगा, बाकी कहीं से कुछ भी नहीं मिलेगा।

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी-भाजपा गठबंधन की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने कहा कि राज्य विधानसभा देश की सबसे ताकतवर विधानसभाओं में है। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पूरे देश में एक बार में ही लागू कर दिया गया था, लेकिन जम्मू-कश्मीर एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां की विधानसभा ने इस पर समुचित बहस के बाद ही पारित किया। 

हालांकि जिस वक्त सीएम महबूबा मुफ्ती अपना ये भाषण दे रही थीं, विधानसभा में पूरा विपक्ष नदारद था। कुलगाम ज़िले में एक युवक की हत्या पर पूर्व मुख्यमंत्री ओमर अब्दुल्ला के नेतृत्व में नेशनल कांफ्रेंस विधायकों ने महबूबा मुफ्ती से बयान देने की मांग की थी। संसदीय मामलों के मंत्री अब्दुल रहमान वीरी ने इस मामले में मजिस्ट्रेट की जांच के आदेश दे दिए जाने की जानकारी दी, लेकिन विपक्षी सदस्य हंगामा करते रहे और फिर नेशनल कांफ्रेंस, कांग्रेस और कुछ निर्दलीय विधायकों ने मुख्यमंत्री के संबोधन का बहिष्कार करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया।

महबूबा मुफ्ती आज जिस वक्त विधानसभा में आईं, उस वक्त ओमर अब्दुल्ला बोल रहे थे और जैसे ही उन्होंने अपनी स्पीच खत्म कर बहिर्गमन किया, पूरा विपक्ष उनके साथ बाहर चला गया।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News