News

यूपी के जालौन डीएम लालू यादव के शुभचिंतक ! जज से पैरवी की जांच

Created at - January 11, 2018, 11:56 am
Modified at - January 11, 2018, 11:56 am

आपको याद होगा कि जब रांची की विशेष सीबीआई अदालत में चारा घोटाले का फैसला आने वाला था, उस दौरान इस मामले के जज के हवाले से एक खबर भी आई थी। इस खबर के मुताबिक जज शिवपाल सिंह ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से कहा था कि आपके कुछ शुभचिंतक मुझे फोन कर रहे हैं, लेकिन मैं कानून के मुताबिक फैसला सुनाऊंगा। जज की इस टिप्पणी के बाद से मीडिया में उस शुभचिंतक का पता करने की होड़ लग गई थी। सोशल मीडिया यूजर्स भी ये जानने को बेताब थे कि आखिर कौन है वो शुभचिंतक, जिसने सीबीआई कोर्ट के जज से लालू प्रसाद यादव की पैरवी की? अब उस शुभचिंतक का नाम सामने आया है और ये काफी चौंकाने वाला है। चौंकाने वाला इसलिए है क्योंकि ख़बरों के मुताबिक बिहार के पूर्व सीएम की पैरवी करने का आरोप उत्तर प्रदेश के जालौन ज़िले के डीएम मन्नान अख्तर पर लगा है। डीएम ही नहीं, एसडीएम भी इस मामले में लपेटे में बताए जा रहे हैं और उनका नाम है भैरपाल सिंह। जालौन के डीएम और एसडीएम के खिलाफ झांसी कमिशनर ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। दूसरी ओर, जालौन के डीएम ने इन आरोपों का खंडन किया है।

 

ये भी पढ़ें- रिपोर्टर के इस सवाल से झल्ला गए लालू प्रसाद यादव..

मीडिया में खबरें आने के बाद जालौन के डीएम मन्नान अख्तर ने कहा है कि मैंने कभी उनसे (शिवपाल सिंह) फोन पर बात नहीं की और अगर ऐसा किया है तो वो वक्तव्य जारी करें। मन्नान अख्तर ने ये भी कहा है कि जिस तारीख पर फोन करने का हवाला इस तरह की रिपोर्ट में दिया जा रहा है, उस तारीख को वो छुट्टी पर थे और छुट्टी में अपने गृह नगर गए हुए थे। 

 

इस बीच, एक और दिलचस्प पहलू ये सामने आ रहा है कि चारा घोटाले में लालू यादव के शुभचिंतक के फोन का हवाला देने वाले सीबीआई अदालत के जज शिवपाल सिंह जालौन के शेखपुर खुर्द गांव के ही रहने वाले हैं। उनकी जमीन पर अवैध कब्जा करके उसके बीच से चक रोड निकाल दिया गया है, जिसके कारण जज साहब परेशान हैं। इस मामले को लेकर जज शिवपाल सिंह के परिजन जालौन डीएम और एसडीएम के दफ्तर के चक्कर लगाते-लगाते परेशान हैं। 

ये भी पढ़ें- केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने की हमर छत्तीसगढ़ योजना की सराहना

बहरहाल, जिस तरह से तथ्य सामने आ रहे हैं और डीएम, एसडीएम के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं, ये मामला काफी दिलचस्प हो गया है।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News