रायपुर News

राशनकार्ड से हर हफ्ते सात पौवा दारू देने की लोक सुराज में मांग!

Last Modified - January 16, 2018, 11:57 am

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लोक सुराज अभियान के दौरान डॉ. रमन सिंह सरकार जनता की समस्याओं को जानने और उसके निवारण में जुटी है। ज़िला एवं ब्लॉक मुख्यालयों पर जनता अपनी समस्याओं, मांगों को लेकर आवेदन पत्र जमा कर रही है और अधिकारियों को सरकार ने इन आवेदन पत्रों पर त्वरित कार्रवाई के निर्देश दे रखे हैं।

ये भी पढ़ें- ऑस्ट्रेलिया में स्वागत पर रमन सिंह ने कहा-परदेस में घर जैसा अहसास

इस साल लोक सुराज अभियान के पहले चरण में जहां कुछ जगहों पर लोगों ने अपनी जायज मांगें रखी हैं तो कई मामलों में अजीबो-गरीब मांगें भी सरकार के सामने रखी गई हैं। इसी कड़ी में हम आपको दिखाने जा रहे हैं एक ऐसी मांग, जिसमें छलका है शराब के शौकीन एक ग्रामीण का दर्द। रायपुर के एक फेसबुक यूजर ने इस शराबप्रेमी ग्रामीण के लोक सुराज आवेदन पत्र को अपने प्रोफाइल पर शेयर किया है, आप भी देखें-

     

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश में दहशतगर्दों का सफाया करने इजरायली सेना की मदद लेगी पुलिस

देखा आपने, मुंगेली ज़िले के लोरमी विकासखंड के सांवतपुर के रहने वाले रामकुमार और लखनलाल साहू ने लिखा है कि उन्हें शराब खरीदने के लिए 20 से 25 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है। आवेदकों ने अपने आवेदन में सिर्फ अपनी समस्या ही नहीं बताई है, बल्कि समाधान भी सुझाया है। रामकुमार और लखनलाल साहू ने लोक सुराज आवेदन में सुझाव दिया है कि सोसायटी के माध्यम से स्थानीय स्तर पर दारू मुहैया कराई जा सकती है। ये दारू राशन कार्ड के आधार पर सात पौवा (क्वार्टर) प्रति रविवार दी जाए। 

    

ये भी पढ़ें- क्या है श्योपुर की समस्याएं?जनकारवां में जनता के सवालों का जवाब देंगे जिम्मेदार

अब ये तो पता नहीं कि अधिकारियों ने रामकुमार और लखनलाल साहू की समस्या और उनके सुझाए समाधान पर कितना गौर किया, लेकिन इस आवेदन से इतना जरूर साफ है कि ग्रामीण इलाकों में शराब दुकानें न होने या दूरदराज होने से शराबप्रेमी कुछ ज्यादा ही परेशान हो रहे हैं।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News