News

महिला दुराचार के आरोपियों को मृत्युदंड देने बने कानून: अमित जोगी

Last Modified - January 22, 2018, 11:55 am

रायपुर- मरवाही विधायक अमित जोगी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर मांग की है कि महिला दुराचार के आरोपियों को मृत्युदंड दिए जाने के लिए राज्य सरकार कानून बनाये। पत्र में जोगी ने राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एन.सी.आर.बी.) की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि महिला अत्याचार के मामलों में छत्तीसगढ़ का देश में तीसरा स्थान है.ऐसी स्थिति के पीछे मुख्य वजह कहीं न कहीं दुराचारियों के विरुद्ध मजबूत कानून का न होना है। इसका एक उद्हारण 26 नवंबर 2017 को सारंगढ़ में हुए सामूहिक बलात्कार के आरोपियों को जमानत मिलना है। ऐसे में आवश्यकता है कि सरकार ऐसा सख्त कानून बनाये जिससे महिला से दुराचार करना तो दूर इस बारे में सोच कर भी लोगों की रूहें काँप जाएँ। इस सन्दर्भ में मध्यप्रदेश में आपकी ही पार्टी के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह की कैबिनेट द्वारा दंड विधि में संशोधन प्रस्तावित किया है जिसके तहत 12 वर्ष तक की लड़कियों से दुष्कर्म करने वाले आरोपी और सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों को मृत्युदंड दिए जाने का प्रावधान रखा है।

ये भी पढ़े - छत्तीसगढ़ की जनता से छलावा कर रही है रमन सरकार: JCCJ

 

 मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को लिखे पत्र में अमित जोगी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की हमारी माताओं, बहनों और बेटियों की आपसे यह अपेक्षा है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र 2018 में विधेयक पेश किया जाए जिसके तहत छत्तीसगढ़ की वर्तमान दंड विधि में संशोधन करते हुए महिला दुराचार के आरोपियों को मृत्युदंड दिए जाने का प्रावधान हो.अमित जोगी ने पत्रकारों को बताया कि इस सन्दर्भ में वे विधानसभा के आगामी बजट सत्र में एक अशासकीय संकल्प भी प्रस्तावित करेंगे।

वेब टीम  IBC24

Trending News

Related News