बिलासपुर News

आईजी दीपांशु काबरा के आदेश से महकमें में मची हलचल

Last Modified - January 31, 2018, 1:48 pm

बिलासपुर के आईजी दीपांशु काबरा इन दिनों अपने महकमे में बदलाव के लिए जाने जा रहे हैं। उनके नए आदेश से युवा वर्ग जहां खुश नजर आ रहा है वहीं पुराने रसूकदारों पर गाज गिरने वाली है।आई जी दीपांशु काबरा ने रेंज के सभी पाँच एस पी को निर्देशित किया है और ये निर्देश भी ऐसा जिसे सुनकर थाने में बैठे पुराने मुंशी ,सिपाही और अधिकारी सब दहशत में आ गए हैं। आपको बता दें कि बिलासपुर में अपना कार्यभार सँभालते ही दीपांशु  काबरा ने लोगो को अपनी समस्या ट्विटर के माध्यम से व्यक्त करने का आग्रह किया था। और अब तक उनके ट्विटर अकॉउंट में जितनी  भी समस्या रखी गयी है उसका उन्होंने तत्काल समाधान निकाला है 

 

 

उन्होंने लेटर में लिखा है कि अपने जिलों में दो साल से पदस्थ अधिकारियों को तूरंत हटाएँ। रेंज आईजी का यह आदेश केवल अधिकारियों तक सीमित नही है, बल्कि यह थाने में पदस्थ सभी के लिए लागु रहेगी। यह आदेश पाँच बिंदुओं पर केंद्रित है।

इस आदेश के लिए आई जी काबरा ने कारण भी लिखा है -

कुछ जिलों में क्राईम ब्रांच विभिन्न थानो पुलिस अधिक्षक कार्यालय और रक्षित केंद्र के मुंशी मददगार व एमटी शाखा में कार्यरत अधिकारियों कर्मचारियों की लंबे समय से तैनात होने की लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही हैं.

 

 

सबसे मुख्य बात है कि इस आदेश का पालन 15 दिन के अंदर करना है।आदेश में लिखी दो बाते और उल्लेखनीय है, पहला तो यह कि, पदस्थापना जब परिवर्तित हो तो इस बात का ध्यान रखा जाए कि, वह कर्मचारी पूर्व में वहाँ पदस्थ ना रहा हो, और दूसरा क्राईम ब्रांच शाखा के लिए यदि इस दो वर्ष की सीमा में आने वाले के अलावा कोई और नाम दिया गया होगा तो वह भी प्रभावशील होगा। दो साल पदस्थापना वालो को हटाए जाने का यह फ़रमान क्राईम ब्रांच,थाना,लाईन,एमटी शाखा  से लेकर पुलिस द्वारा संचालित पेट्रोल पंप पर प्रभावी होगी।

web team IBC24

Trending News

Related News