धारधमतरी News

धमतरी पुलिस ने गिरफ्तार किया 18 महीने में 5 क़त्ल करने वाला आरोपी

Created at - January 31, 2018, 7:44 pm
Modified at - January 31, 2018, 7:44 pm

 

रायपुर- एक ऐसा आरोपी जिसके बारे में सुनकर हर किसी की रूह कांप जाये ,18 महीने में 5 क़त्ल जी हाँ ये शख्स, छत्तीसगढ़ के खपरी गांव का रहने वाला है जिसे आज धमतरी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।आपको ज्ञात होगा 2016 में धमतरी के खपरी गांव में हुए डबल मर्डर के बारे में.

ये भी पढ़े - शिक्षाकर्मी ने मजदूरी करने विभाग से मांगी छुट्टी

धमतरी निवासी  जितेन्द्र ध्रुव मजदूरी का काम करता था उसी दौरान जितेंद्र का प्रेम प्रसंग चला पार्वती  दोनों समय बे समय मिलने लगे इसी दौरान  16 अगस्त 2016 की रात जितेंद्र पार्वती के घर गया उस दौरान दोनों के बीच शारीरिक संबंध बनाने के दौरान  पार्वती की मां रूकमनी पहुंच गयी दोनों को इस स्थिति में देखकर रूकमनी स्तब्ध हो गयी जिसे देखकर  जितेंद्र ने पार्वती की मां रूखमणी बाई को फावड़े से मौत के घाट उतार दिया। लेकिन जब जितेंद्र को ये अहसास हुआ कि पार्वती उसका भेद खोल सकती है. तो जितेंद्र ने पार्वती भी मार डाला। 

ये भी पढ़े - जोगी खेमे ने साधा भाजपा और कांग्रेस पर निशाना 

 

इस हत्या के बाद जितेंद्र बिंदास घूम रहा था क्योकि पुलिस को उस पर जरा भी शक नहीं था। लेकिन इस डबल मर्डर के करीब 11 महीने बाद जितेंद्र ने तेलीनसत्ती में एक ट्रिपल मर्डर को अंजाम दिया.वजह थी घर में घुस कर चोरी पहचान छिपाने तीन लोगों को उतारा मौत के घाट। 12-13 जुलाई 2017 की  रात ग्राम तेलीनसत्ती के महेन्द्र सिन्हा , उसकी पत्नी उषा सिन्हा , छोटा पुत्र महेश उर्फ लक्की (11 वर्ष) की हत्या कर दी। ये मामला चोरी और हत्या से जुड़ा था।  महेन्द्र की पत्नी उषा जेवर गिरवी रखने का काम करती थी, जिसकी जानकारी जितेन्द्र को भी थी। उसने योजना बनाई कि महेन्द्र सिन्हा के घर की आलमारी में रखे जेवरों की चोरी करके वो फरार हो जायेगा। जब वह जेवर चोरी कर रहा था तभी परिवार के सदस्य जाग गए और उसने सभी पर प्राणघातक हमला कर दिया। आरोपी  हत्या को अंजाम देने के बाद उनके घर से करीबन ढाई लाख रूपए के सोना-चांदी लेकर भागने में भी कामयाब रहा।

ये भी पढ़े - जब मुख्यमंत्री ने फोन पर कहा -प्रेमनगर आहूं त तुंहर से मुलाकात होही

आज रायपुर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पुलिस ने बताया कि इस मर्डर की  जांच में काफी जदोजहद करनी पड़ी।  इस मामले की तह तक जाने के लिए पुलिस ने साढ़े 3 लाख मोबाइल नंबरों को खंगाला। इसके अलावा तेलीनसत्ती, खपरी, भानपुरी, अर्जुनी, देमार, उसलापुर के समेत आसपास के गांवों के 20 से 30 वर्ष उम्र वाले युवकों की मतदाता सूची की जांच की गई। वोटर लिस्ट की जांच में 25 से 35 लोगों को चिन्हांकित कर एक-एक युवकों की गतिविधियों पर जानकारी रखने के लिए पुलिस को लगाया गया।और आरोपी जितेंद्र पर शक गहराने के कारन  4 महीने तक पुलिस लगातार युवकों पर नजर रखे थी। 

 

 

वेब टीम IBC24

 

 

 

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News