News

13 साल की गैंगरेप पीडिता को मिली अबॉर्शन की अनुमति, बिलासपुर हाईकोर्ट का फैसला

Last Modified - February 5, 2018, 3:41 pm

बिलासपुर। गैंगरेप की शिकार बनी नारायणपुर की 13 साल की किशोरी की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर बिलासपुर हाईकोर्ट ने उसके गर्भपात कराने का निर्देश राज्य शासन को दिया है। हाईकोर्ट में आदेश के बाद आज 5 एक्सपर्ट की निगरानी में जांच पूरी होने के बाद किशोरी का अबॉर्शन किया जाएगा। यह पहला मौका है जब छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने ऐसे किसी मामले में किशोरी के पेट में पल रहे बच्चे को गिराने की अनुमति दी है। अबॉर्शन के बाद पूरी रिपोर्ट हाईकोर्ट में पेश की जाएगी।

इस बीजेपी विधायक को मिली जान से मारने की धमकी

बता दें कि नारायणपुर की रहने वाली 13 साल की मासूम के साथ गैंगरेप हुआ था। जनवरी 2018 में उसके गर्भधारण करने का खुलासा हुआ। खुलासा के बाद गर्भ 20 सप्ताह का हो चुका था। जगदलपुर मेडिकल कॉलेज ने जांच के बाद पीड़िता के अबॉर्शन कराने में शारीरिक अक्षमता बताया और आबर्शन के अनुमति नहीं दी। शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना झेल रही किशोरी ने अपनी मां के साथ हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसमें अबॉर्शन कराने की अनुमति मांगी गई थी जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर अबॉर्शन कराने की अनुमति देते हुए शासन को निर्देश दिया है। 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News