News

मालदीव में आपातकाल का ऐलान, पूर्व राष्ट्रपति और चीफ जस्टिस गिरफ्तार

Last Modified - February 6, 2018, 9:09 am

मालदीव में आपातकाल के ऐलान के बाद राजनीतिक संकट गहरा गया है. पूर्व राष्ट्रपति मौमून गयूम और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस अब्दुल सईद को गिरफ्तार किया गया है. सोमवार को पू्र्व राष्ट्रपति मौमून गयूम के सौतेले भाई राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने देश में 15 दिन के लिए आपातकाल लगाने का ऐलान किया था. 

   

 

पूर्व राष्ट्रपति मौमून गयूम 30 साल तक मालदीव के राष्ट्रपति रहे, गयूम पर आरोप है कि वो विपक्ष के साथ मिलकर अपने सौतेले भाई को पद से हटाने के लिए लगातार कूट रचना बून रहे थे.मालदीव की सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस अली हमीद के साथ न्यायिक प्रशासन विभाग के प्रशासक को भी गिरफ्तार किया गया है.

     

 

क्या है विवाद ?

मालदीव के सुप्रीमकोर्ट ने पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद समेत अन्य राजनैतिक कैदियों को रिहा करने का आदेश दिया था. नशीद राष्ट्रपति यामीन के मुख्य राजनीतिक प्रतिद्वंदी हैं.

    

 

राष्ट्रपति यामीन ने न्यायालय पर राज्य की शक्तियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था. इसके बाद से मालदीव में राजनैतिक संकट गहरा गया. विपक्ष राजधानी माले की सड़कों पर प्रदर्शन को उतारू हो गया. सैनिकों को संसद भवन के पास तैनात कर दिया गया. ताकि सांसदों को बैठक करने से रोका जा सके.  

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News