News

आगाज से पहले विवादों में ताज महोत्सव, महोत्सव का भगवाकरण करने का आरोप

Last Modified - February 6, 2018, 1:39 pm

आगरा में होने वाला ताज महोत्सव इस साल अपने आगाज से पहले ही विवादों में आ गया है. महोत्सव का आयोजन 18 फरवरी से 27 फरवरी के बीच शुरू होना है. इस बार विवादों की वजह बना मुगलिया संस्कृति पर आयोजित महोत्सव में भगवान राम पर आधारित नृत्य-नाटिका को शामिल करना. 

ये भी पढ़ें- BSF जवान ने कहा- मजबूर मत करो, परिवार को न्याय नहीं मिला तो उठा लूंगा हथियार

    

ये भी पढ़ें- हनीट्रैप मामला: युवती की आज रिहाई, SIT के पूछताछ में होंगे खुलासे

ताज महोत्सव में नृत्य-नाटिका के आयोजन को शामिल करने पर राज्य सरकार पर कार्यक्रम के भगवाकरण करने के आरोप लग रहे हैं. बीजेपी ने जहां ताज महोत्सव में नृत्य-नाटिका के आयोजन को मांगलिक कार्य बताते हुए इसका समर्थन किया है.

   

ये भी पढ़ें- शिवराज का शहीद राम अवतार के लिए बड़ा ऐलान, परिजनों को 1 करोड़ कैश, पेंशन और मिलेगा फ्लैट

ताज महोत्सव कमेटी की माने तो महोत्सव को लेकर इस साल लोगों से सुझाव मांगा गया था, महोत्सव के विषय वस्तु को लेकर इस साल काफी सुझाव भी आए थे. सुझाव के आधार पर धरोहर थीम का चुनाव किया गया. और इसी के आधार पर कार्यक्रम का प्रचार भी किया जा रहा है. 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News