News

ढाई लाख दीये की रोशनी से जगमगायेगा कल राजिम कुंभ मेला

Last Modified - February 6, 2018, 2:45 pm

  रायपुर-माघ पूर्णिमा 31 जनवरी से प्रारंभ राजिम कुंभ कल्प मेले में 7 फरवरी से विराट संत समागम शुरू होगा। जिसमें देश भर के साधु-संतों और महात्माओं के आगमन पर अभिनंदन की विशेष तैयारियां की जा रही है। विराट संत समागम के शुभारंभ पर साधु-संतों के स्वागत के लिए कुंभ स्थल पर ढाई लाख दीप जलाकर कीर्तिमान स्थापित किया जाएगा। धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने संत समागम की तैयारियों के सिलसिले में बीती रात मेला क्षेत्र का अवलोकन किया। श्री अग्रवाल छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष नारायण चंदेल के साथ त्रिवेणी संगम में आयोजित गंगा आरती में भी शामिल हुए।

 

श्री अग्रवाल सबसे पहले लोमश ऋषि आश्रम पहुंचे और वहां नागा साधुओं के पंडाल का निरीक्षण किया। वे संत समागम स्थल में प्रवचन पंडाल, यज्ञ शाला और भोजन कक्ष की व्यवस्था देखी। उन्होंने संतों के लिए बनाई गई कुटियों तथा उनके आवास स्थलों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। ढाई लाख दीपों के प्रज्वलन के लिए बनाए गए विभिन्न सेक्टरों का भी उन्होंने पैदल अवलोकन किया तथा इस दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आवश्यकतानुसार बैरिकेट्स लगाने के निर्देश उन्होंने उपस्थित अफसरों को दिये।  विधायक राजिम श्री संतोष उपाध्याय, नवापारा पालिका अध्यक्ष श्री विजय गोयल, सचिव धर्मस्व एवं जल संसाधन श्री सोनमणि बोरा, कलेक्टर गरियाबंद श्रीमती श्रुति सिंह,कलेक्टर धमतरी श्री आर प्रसन्ना, संचालक संस्कृति श्री जितेंद्र शुक्ला, एसपी धमतरी श्री रजनीश सिंह, गरियाबंद एसपी श्री मोहित गर्ग सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अफसर मौजूद थे।आपको बता दें की मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह संत-समागम शुभारंभ समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। 

राजिम के त्रिवेणी संगम पर राजीव लोचन मंदिर के पास तट पर बने भव्य मुक्ताकाशी मंच पर  7 फरवरी की शाम साधु-संतों के सत्संग में संत समागम का शुभारंभ समारोह आयोजित किया गया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह शुभारंभ समारोह के मुख्य अतिथि होंगे।धर्मस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने विभिन्न सेक्टरों के अवलोकन के बाद राजिम विश्राम गृह में अधिकारियों की संयुक्त बैठक लेकर दीप उत्सव को लेकर दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि 7 फरवरी को राजिम कुंभ कल्प का स्वरूप वृहद होगा। इस दिन संपूर्ण कुंभ मेला क्षेत्र को 28 सेक्टरों में 6 प्वांईट पर विभाजित किया गया है, जहां ढाई लाख दीये जलाए जाएंगे। इन क्षेत्रों में बेरिकेट्स लगाने के निर्देश दिए। साथ ही दीप उत्सव के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं समय से पहले करने के निर्देश दिए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों और आम नागरिकों का दीप उत्सव में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने आग्रह किया।

वेब टीम IBC24

Trending News

Related News