IBC-24

पुलिस ने बैरिकेडिंग में बांधा था तार, बाइक सवार युवक का गला कटा, मौत

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 08 Feb 2018 01:24 PM, Updated On 08 Feb 2018 01:24 PM

अब आप इसे लापरवाही कहें, हादसा कहें या फिर बदकिस्मती लेकिन हम जो ख़बर आपको बताने जा रहे हैं, उसे पढ़कर दिल कांप जाएगा। 21 साल का युवक अभिषेक बुधवार की रात काम से वापस घर लौट रहा था, उसने पुलिस की बैरिकेडिंग देखी तो बैरिकेडिंग के बीच से बाइक निकालने की कोशिश की, तभी उसमें बंधा तार टूटकर उसकी गर्दन से जा लिपटा। बाइक की रफ्तार तेज़ थी, इसलिए बाइक में ब्रेक लगाने के बावजूद तार से उसका गला कट गया और अभिषेक की जान चली गई। बैरिकेडिंग की जगह पर रोशनी भी कम थी, अगर रोशनी होती तो शायद बाइक पर सवार अभिषेक को तार नज़र आ जाता और जान बच जाती, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ये ख़बर दिल्ली की है, जहां नेताजी सुभाष प्लेस में हुई इस घटना से हड़कंप मचा हुआ है।

 

हैरानी की बात ये है कि दिल्ली पुलिस ने ये बैरिकेडिंग तो कर दी, लेकिन इसके आसपास एक भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था। मृतक के रिश्तेदार का कहना है कि अभिषेक की मौत से कुछ देर पहले ही एक और व्यक्ति की जान जाते-जाते बची थी, इसके बावजूद न तो दिल्ली पुलिस की कोई पीसीआर वैन यहां आई और न ही कोई पुलिसकर्मी ही आया। स्थानीय लोगों ने अपनी ओर से घायल अभिषेक की जान बचाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे।  

अभिषेक की मौत की ख़बर सुनते ही उसके परिवार में मातम छा गया। 21 साल के जवान बेटे को खो चुकी उसकी मां का रो-रोकर बुरा हाल है। उनका कहना है कि उनके बेटे को इंसाफ मिले, इस हादसे के लिए जो जिम्मेदार हैं, उन्हें सज़ा मिले।

इस मामले की शुरुआती जांच में ही ये सामने आ गया कि युवक की मौत दिल्ली पुलिस की लापरवाही के कारण हुई है। पुलिस बैरिकेडिंग के नियमों के तहत दो बैरिकेड के बीच तार बांधने की इजाजत नहीं होती, इसके बावजूद तार बांधा गया था। इसके अलावा, बैरिकेडिंग के आसपास किसी की तैनाती ही नहीं की गई थी तो फिर बैरिकेडिंग क्यों की गई थी, ये सवाल भी अहम है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है और एसएचओ को लाइन हाजिर किया गया है।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : bike rider dies due to negligence of Police

ibc-24