IBC-24

छत्तीसगढ़ विधानसभा में पेश हुआ आर्थिक सर्वेक्षण, प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि का अनुमान

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 09 Feb 2018 09:38 PM, Updated On 09 Feb 2018 09:38 PM

छत्तीसगढ़ विधानसभा में जारी बजट काल में सत्र के 5 वें दिन मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने सदन के सामने आर्थिक सर्वेक्षण पुस्तिका का विमोचन किया। सर्वेक्षण में प्रदेश की वित्तीय स्थिती को लेककर अच्छे संकेत देखने को मिले है। सर्वेक्षण में बताया गया है कि छत्तीसगढ़ ने 2016-17 के वित्तीय वर्ष में अपनी प्रति व्यक्ति औसत वार्षिक आमदनी में 9.22 प्रतिशत की वृद्धि दिखाई, जिससे प्रति व्यक्ति औसत आमदनी 84,265 रूपए प्रति व्यक्ति से 92,035रूपए हो गई है। योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री श्री पुन्न्नूलाल मोहले ने यह आर्थिक सर्वेक्षण सदन के पटल पर रखा। जिसमें उन्होंने बताया कि राज्य का सकल घरेलू उत्पाद वर्ष 2017-18 में बढ़ने की संभावनाएं है। उन्होने घरेलू उत्पाद के आधार वर्ष 2011-12 को रखते हुए सदन को बताया कि सकल राज्य घरेलू उत्पाद के अग्रिम अनुमान वर्ष 2016-17 के 2,13,649 करोड़ रूपए से बढ़कर वर्ष 2017-18 में 2,27,866 करोड़ रूपए संभावित है, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 6.65 प्रतिशत वृद्धि दर्शाता है। उन्होंने आगे बताया कि सकल राज्य घरेलू मूल्यवर्धन (आधार मूल्य पर) कृषि एवं सम्बद्ध क्षेत्र जिनमें कृषि, पशुपालन, मछलीपालन एवं वन आते है इन क्षेत्रों में 2.89 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र जिसमें निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित जैसे क्षेत्र शामिल है उनमें 5.84 प्रतिशत एवं सेवा क्षेत्र में 9.46 प्रति वृद्धि का अनुमान है।  

आगे उन्होंने बाजार मूल्य के अग्रिम अनुमान वर्ष 2017-18 में प्रचलित भावों पर सकल राज्य घरेलू उत्पाद जिस बाजार मूल्य भी कहा जा सकता है वर्ष 2016-17 के रूपए 2,62,263 करोड़ से बढ़कर रूपए 2,91,681 करोड़ होने की संभावना है, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 11.22 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। सकल राज्य घरेलू मूल्यवर्धन (आधार मूल्य पर) कृषि एवं सम्बद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मछलीपालन एवं वन) में वर्ष 2016-17 में रूपए 53,005 करोड़ से बढ़कर रूपए 60,591 करोड़, उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) में रूपए 1,04,263 करोड़ से बढ़कर रूपए 1,12,140 करोड़ एवं सेवा क्षेत्र में रूपए 89,270 करोड़ से बढ़कर रूपए 1,00,685 करोड़ होना संभावित हैै। इस प्रकार पिछले वर्ष की तुलना में प्रतिशत वृद्धि क्रमशः 14.31 प्रतिशत, 7.56 प्रतिशत एवं 12.79 प्रतिशत अनुमानित है।

पुन्नूलाल मोहले ने सदन के सामने त्वरित अनुमान स्थिर भावों (आधार वर्ष 2011-12) राज्य घरेलू उत्पाद के त्वरित अनुमान पेश किए, जिसमें उन्होंने बताया कि वर्ष 2015-16 के 1,97,069 करोड़ रूपए से बढ़कर वर्ष 2016-17 में रूपए 2,13,649 करोड़ आंकलित है। इस प्रकार पिछले वर्ष की तुलना में 8.41 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। सकल राज्य घरेलू मूल्यवर्धन (आधार मूल्य पर) कृषि एवं सम्बद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में 13.78 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित ) में 7.85 प्रतिशत एवं सेवा क्षेत्र में 6.82 प्रतिशत वृद्धि हुई है।

छत्तीसगढ़ स्वस्थ राज्यों के टॉप 5 में- नीति आयोग, 3 साल में बीमारी से 300 मौत- बघेल

कुल मिलाकर अर्थिक सर्वेषण के आंकडे पेश करते हुए मंत्री ने बताया कि आगामी बजट जो कि शनिवार को सदन के सामने पेश होना उनमें सकारात्मक कदम देखने को मिलेंगे, मोहले प्रति व्यक्ति आय में 9.22 प्रतिशत वृद्धि होने की संभावना जताई है जिससे आगामी वर्ष में प्रति व्यक्ति आय 84,265 रूपया होने की संभवना हैै।

 

आपको बता दें कि कल मतलब शुक्रवार को विधानसभा में राज्य का बजट पेश होना है जिसके पहले सरकार की ओर से इस आर्थिक सर्वेक्षण को पेश किया गया है। 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Economic survey presented in Chhattisgarh assembly, Estimation of increase in per capita income

ibc-24