IBC-24

कई घोषणाएं कर शिवराज बोले, किसानों को मिलेगी पसीने की कमाई लेकिन कर्ज माफी नहीं

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 12 Feb 2018 05:44 PM, Updated On 12 Feb 2018 05:44 PM

भोपाल। चुनावी साल में किसानों की नारजगी दूर करने के लिए शिवराज सरकार ने किसानों को खुश करने के लिए मास्टर स्ट्रोक खेला है। मुख्यमंत्री शिवराज ने सोमवार को भोपाल में किसान सम्मेलन के मौके पर किसानो के लिए घोषणाआंे की झड़ी लगा दी। सीएम शिवराज ने प्रदेश में हुई ओलावृष्टि पर किसानों को राहत देने वाला बयान देते हुए कहा है की प्रदेश सरकार किसानों की हर संभव मदद करेगी। चुनावी साल में शिवराज सिंह चैहान ने कई बड़े एलान किये है। उन्होंने गेंहू का समर्थन मूल्य 300 रु. बढ़ाकर 2000 रूपए प्रति क्विंटल करने की बात कही। सरकार ने भावांतर भुगतान योजना को जारी रखने का फैसला किया है, हालांकि एक बड़ा परिवर्तन कर सरकार ने किसानों को बड़ी राहत दी है। किसान अब अपनी उपज को अपनी सहूलियत के हिसाब से बेच सकेंगे।

शिवराज के सामने गुजरात के ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर की चुनौती

किसान सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने किसानों को भावांतर योजना की राशि और भावांतर योजना के प्रमाणपत्रों का वितरण भी किया। चुनावी साल में हो रहे इस आयोजन में सरकार द्वारा बड़ी घोषणाओं की उम्मीद की जा रही थी। इसमें मुख्यमंत्री ने 4 लाख किसानों के खातों में भावांतर भुगतान योजना के 620 करोड़ रुपए हस्तांतरित किए। सीएम ने मंच से ही क्लिक कर किसानों के खाते में ये पैसा ऑनलाइन ट्रांसफर किया। अपने संबोधन में सीएम शिवराज ने ऐलान किया कि प्रदेश में बारिश से होने वाले फसल नुकसान की भरपाई होगी। प्रदेश की भाजपा सरकार किसानों के साथ खड़ी है। राहत की राशि और फसल बीमा योजना की राशि जोड़कर किसानों के नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी। सीएम शिवराज ने ऐलान किया कि अब जरूरी नही कि तत्काल फसल उपज बेची जाए, भंडारण कर दो महीने बाद भी फसल बेच सकते है, भंडारण का किराया सरकार देगी एमएसपी नहीं मिला तो सरकार भावान्तर भुगतान में फसल खरीदेगी। चना मसूर सरसो भी भावान्तर में होगी शामिल किया गया है।

मध्यपदेश में जारी अतिथि विद्वानों का विरोध, शिक्षा मंत्री ने दिए सकारात्मक संकेत

भंडारण की गई फसल का 25 फीसदी मूल्य किसानों को सहकारी बैंक से मिल सकेगा तत्काल पैसों की जरूरत होने पर किसानों 25 प्रतिशत पैसा भंडारण की गई फसल पर ले सकेंगे। उसका ब्याज सरकार ब्याज भरेगी अधिकतम 4 महीने के लिए किसान फसल उपज का भंडारण कर सकेगा भावान्तर भुगतान योजना जारी रहेगी। साथ ही कृषक युवा उद्यमी योजना, 25 लाख से 2 करोड़ तक का लोन सिर्फ किसान पुत्र पुत्रियों को मिलेगा जिसमें 15 प्रतिशत सब्सिडी का प्रावधान रहेगा इसी के साथ 7 साल तक 5 प्रतिशत ब्याज सरकार भरेगी एक ब्लॉक से 100 किसान पुत्र पुत्रियों को इसका फायदा मिलेगा। इसी के साथ चंबल संभाग में कस्टम हायरिंग सेंटर को मंजूरी देने की बात भी सीएम ने कही उन्होंन बताया कि 1200 करोड़ की लागत से बीहडों को समतल कर किसानों को खेती के लिए जमीन उपलब्ध करवाई जाएगी।

मध्यप्रेश के वैद्य कर रहे पूर्व श्रीलंकाई कप्तान जयसूर्या के घुटनों का इलाज

किसान क्रेडिट कार्ड को रुपे कार्ड में बदलेगी सरकार इसका मतलब यह होगा कि अब किसान क्रेडिट कार्ड एटीएम में कन्वर्ट हो जाएंगे। पशु आहार डेयरी उपकरण खरीदने के लिए पशु पालकों को सरकार 50 हजार का ऋण देगी आचार्य विद्यसागर योजना में अब 1500 की बजाय 15 हजार किसानों को मिलेगा फायदा। राजस्व विभाग की पहल किसानों को खसरे और नकल के साथ नामांतरण का आदेश एक महीने में मिलेगा सीमांकन की तारीख अब तहसील से आवेदन के साथ ही मिलेगी, जमीन बटाई पर देने पर बटाईदार को भी मिलेगा लाभ अब ट्रांसफार्मर ढोने का किराया भी किसानों को मिलेगा। शिवराज सिंह ने कहा कि वे खेती को हर हाल में फायदे का धंधा बनाकर रहूंगा। शिवराज ने आगे कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि एक एकड़ जमीन पर किसानों को 25 हजार रूपए बचना चाहिए। इसी के साथ शिवराज ने यह भी साफ कर दिया कि सरकार किसानों का कर्ज माफ नहीं करेंगी बल्कि वह किसानों को उनके पसीने का उचित मूल्य देगी। 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Chief Minister Shivraj Singh Chouhan has announced many announcements for farmers

ibc-24