News

छगः शिक्षाकर्मी आंदोलन के दौरान यातनाएं झेलने वाले शिक्षकों का होगा सम्मान

Last Modified - February 12, 2018, 8:03 pm

बिलासपुर। प्रदेश में 15 दिनों के अपने जोरदार आंदोलन के दौरान सरकार को काफी परेशानी में डालने वाले शिक्षाकर्मियों के बीच में से वे शिक्षाकर्मी जिन्होंने बर्खास्तगी झेली थी या फिर जिन्हें सेंट्रल जेल, जिला जेल, उप जेल में बंद करके रखा गया था शिक्षाकर्मी संगठन अब उनका सम्मान करने जा रहा है इसके लिए 14 फरवरी की तिथि निर्धारित की गई है यह सम्मान समारोह रायपुर के दानवीर भामाशाह सामुदायिक भवन खम्हारडीह में रखा गया है जिसमें मोर्चा के संचालकों की उपस्थिति के बीच में शिक्षाकर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। शिक्षाकर्मी मोर्चा के नाम से जबरदस्त आंदोलन करने वाले प्रदेश के संचालको की मौजूदगी में होने वाले इस कार्यक्रम में उपस्थिति से निश्चित तौर पर कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे शिक्षाकर्मियों में उत्साह बढाने का काम करेगा। इसी के साथ इस बात की पूरी संभावना है कि अगर कमेटी के रिपोर्ट शिक्षाकर्मियों के हित में नहीं आती है तो मोर्च एक बार फिर से शासन के विरुद्ध अपनी नई रणनीति का खाका खींच सकता है।

 सदन में 'हंगामा है क्यों बरपा ..थोड़ी सी जो'..

कभी लोक सुराज तो कभी सीएम लाइव के जरिए लगातार अपनी मांगों को बुलंद कर रहे शिक्षाकर्मियों के इस कार्यक्रम को भी उनकी एक सुनियोजित रणनीति माना जा रहा है राजधानी में हजारों शिक्षकों की उपस्थिति में बर्खास्तगी और जेल प्रताड़ना का सामना करने वाले शिक्षाकर्मियों का सम्मान न केवल उनके उत्साह को दुगना करेगा बल्कि आम शिक्षाकर्मियों में भी जोश फूकने का काम करेगा, ऐसे भी कमेटी का समय 5 मार्च को खत्म होने वाला है और उसके बाद सरकार के पास निर्णय लेने के लिए कोई बहाना नहीं रहेगा, मध्यप्रदेश में संविलियन के बाद सरकार पर फैसला लेने का दबाव भी बढ़ा है साथ ही हर सर्वे और मीडिया रिपोर्ट में शिक्षाकर्मियों  का आक्रोश और उनकी ताकत साफ दिखाई दे रही है ऐसे में इस कार्यक्रम को शिक्षाकर्मियों को फिर एकजुट करने की रणनीति मानी जा रही है।

छत्तीसगढ़ पंचायत संचालनालय ने शिक्षाकर्मियों से मांगे प्रस्ताव व सुझाव

जब इस संबंध में हमने संजय शर्मा प्रदेश संचालक छत्तीसगढ़ पंचायत नगरी निकाय मोर्च से बात की तो उन्होंने कहा कि प्रदेशभर के शिक्षा कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर 15 दिनों तक सरकार के सामने पुरजोर प्रदर्शन किया, आंदोलन के दौरान कई शिक्षाकर्मियों को बर्खास्तगी झेलनी पड़ी या फिर जिन्हें जेल जाना पड़ा उनके सम्मान में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। वहीं शिक्षाकर्मी संघ के मीडिया प्रभारी विवेक दुबे ने कहा  हमारे शिक्षाकर्मी साथी ही हमारी असली ताकत है, कार्यक्रम में इन्हें सम्मानित किया जाएगा जो कि हमारे लिए भी गौरव का विषय है।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News