News

नाबालिग युवती से पहले हुआ छेड़छाड़ फिर हुआ उसका मुंडन

Last Modified - February 14, 2018, 4:19 pm

एक तरफ हम कहते हैं कि मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है वहीं दूसरी तरफ औरतों पर बढ़ रहे अत्याचार के ग्राफ फिर से हमें ये सोचने पर मजबूर करते हैं कि क्या वास्तव में देश में औरतों पर होने वाले अत्याचार कम हुए हैं ? कवर्धा के पास से ऐसी ही घटना सुनने में आई है जहां एक छेड़छाड़ की शिकार हुई बैगा आदिवासी नाबालिग युवती का मुंडन  कराया गया है। 

 

क्या है मामला 

कवर्धा जिला के पंडरिया ब्लाक में अंतिम छोर में बसे गांव सेंदूरखार में कक्षा 7 में पढनेवाली एक बैगा आदिवासी गांव में ही प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत मकान बनाये जा रहे थे, जहां मजदूरी करती थी.पीडित की माने तो काम के दौरान ही समाज के ही एक शादीशुदा युवक ने उसका हाथ पकड़कर जबरदस्ती की कोशिश की. जिसे गांव के कुछ लोगों ने देख लिया. जिसके बाद दोनों के बीच अवैध संबंध होने का आरोप लगाते हुए युवक से जहां पांच हजार रूपये वसूल लिए. वहीं युवती के परिजनों से भी पांच हजार वसूल कर लिये. यही नहीं युवती को जबरदस्ती मुंडन भी करा दिया गया. जबकि बैगा आदिवासी समाज में महिलाओं का मुंडन शुभ नहीं माना जाता. इसके बाद भी समाज के कुछ ठेकेदारों ने जबरदस्ती इस कृत्य को अंजाम दिया.

ये भी पढ़े - पांचवीं बटालियन के जवान ने किया नशे में फायरिंग

 

अब मामला मीडिया में आने के बाद पुलिस व जिला प्रशासन की टीम भी हरकत में आ गई है. पुलिस के आला अधिकारी मामले की जांच के लिए पंडरिया एसडीओपी को भेजा है. जांच के बाद कार्यवाई की बात कही जा रही है. साथ ही पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सोमवार को एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. इसके बाद मंगलवार को भी पुलिस ने समाज के 13 ठेकेदारों को भी गांव से गिरफ्तार किया है, जिसमें 3 महिलाएं भी शामिल हैं.

ये भी पढ़े - रायपुर स्टेशन पर घूम रहे फर्जी अधिकारी रेलवे हुआ सजग

बताया जा रहा है कि पीडित के परिजनों के पास पैसा नहीं होने पर समाज को खिलाने पिलाने के लिए पैसा उधार लेना पडा. वहीं पीडित परिवार इस मामले की शिकायत समाज के डर से कही नहीं करना चाहते क्योंकि उन्हें समाज वालों के बीच ही रहना है.

वेब टीम IBC24

Trending News

Related News