बस्तर News

तीन दिवसीय चित्रकोट महोत्सव का रंगारंग शुभारंभ

Last Modified - February 14, 2018, 8:01 pm

 जगदलपुर -तीन दिवसीय चित्रकोट महोत्सव का रंगारंग शुभारंभ आज  किया गया। इस शुभारंभ अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि चित्रकोट विधायक  दीपक बैज थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विश्व प्रसिद्ध चित्रकोट जलप्रपात के किनारे आयोजित इस महोत्सव के माध्यम से बस्तर की अनुपम व समृद्ध संस्कृति का प्रसार भी विश्व में किया जा सकता है।

ये भी पढ़े -दुनिया के सारे पकवान एक तरफ, राजनांदगाँव का पोहा एक तरफ-डॉ रमन

 उन्होंने महाशिवरात्रि एवं मेले की शुभकामनाएं देते हुए यहां आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं का आनंद लेने का आह्वान किया। इस अवसर पर चित्रकोट के पूर्व विधायक  लच्छुराम कश्यप ने कहा कि चित्रकोट भ्रमण के लिए देश के साथ ही विदेश के पर्यटक पहुंचते हैं, किन्तु यहां आयोजित इस मेले की प्रतीक्षा क्षेत्र के लोगों को पूरे वर्ष भर रहती है।

 

 

उन्होंने कहा कि यहां आयोजित मेला क्षेत्र के बड़े मेलों में शामिल है, जहां दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं। उन्होंने कहा कि इस मेले को जिला प्रशासन द्वारा महोत्सव का रुप देकर इसकी ख्याति बढ़ाई गई है तथा इस मेले में भी अब देश-विदेश के सैलानी पहुंचते हैं।

 

ज्ञात हो की  इंद्रावती नदी पर बना यह जलप्रपात पूरे बस्तर का गौरव है तथा इस धरोहर का सरंक्षण हम सभी का कत्र्तव्य है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही बस्तर के संस्कृति का संरक्षण भी हमारा कत्र्तव्य है तथा ऐसे स्थलों पर ही उन संस्कृतियों का दर्शन संभव है। श्री कश्यप ने कहा कि खेती किसानी के कार्य से निवृत्त होकर किसान इन मेलों में मनोरंजन के लिए पहुंचते हैं और अपने परिचितों को पाकर प्रसन्न होते हैं। उन्होंने कहा कि इस मेले में पहुंचने वालों के लिए प्रसन्नता कई गुना बढ़ जाएगी, क्योंकि यहां विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि चित्रकोट के जलप्रपात में पहली बार नौकादौड़ और तैराकी की प्रतियोगिता भी आयोजित की जा रही है, जो जिला प्रशासन की सराहनीय पहल है। 

 

अतिथियों ने किया विभागीय प्रदर्शनी का अवलोकन

इस अवसर पर अतिथियों ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई स्टाॅलों में पहुंचकर शासकीय कार्यक्रमों, योजनाओं तथा उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उल्लेखनीय है कि चित्रकोट महोत्सव में जनसंपर्क विभाग, आयुष विभाग, पशुपालन विभाग, कृषि विभाग, क्रेडा, खाद्य विभाग शिक्षा, हस्तशिल्प तथा सहकारिता विभाग द्वारा प्रदर्शनी आयोजित की गई है।

 

 

   वेब टीम IBC24

 

Trending News

Related News