News

छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मियों ने भीख मांगकर किया प्रदर्शन

Created at - February 15, 2018, 5:32 pm
Modified at - February 15, 2018, 5:32 pm

 शिक्षाकर्मी  द्वारा बहुत दिनों से समय पर वेतन नहीं दिने की शिकायत की जा रही थी बार बार प्रशासन इन्हे झूठे वादे कर शांत कर देता था।आज शिक्षकों का धैर्य टूट गया और उन्होंने रायपुर स्थित माध्यमिक शिक्षा मंडल एवं राजीव गांधी शिक्षा मिशन के संचालक कार्यालय के सामने भीख मांगकर अपना विरोध दर्ज करवाया। शिक्षकों के प्रदर्शन को देखते हुए संबंधित अधिकारी ने आश्वासन दिया है की एक हफ्ते में ही इन शिक्षकों को वेतन का भुगतान कर दिया जायेगा.

ये भी पढ़े -खुद की मांग पूरी नहीं कर पाने के बावजूद छत्तीसगढ़ बेच रहा है अन्य राज्यों को बिजली

 

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत कार्यरत पंचायत संवर्ग के शिक्षकों को विगत 2-3 माह से वेतन नहीं मिला है. ऐसे शिक्षकों की संख्या लगभग एक लाख बताई जा रही है. वेतन न मिलने से क्षुब्ध इन शिक्षकों ने गुरूवार को भीख मांगकर प्रदर्शन किया.इस आन्दोलन का नेतृत्व संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ के प्रान्तीय और जिला विकासखंड द्वारा संयुक्त रूप से किया. शिक्षा संघ के पदाधिकारियों ने चेतावनी दी है कि यदि इसके बाद भी इन शिक्षकों को वेतन नही दिया गया तो वे आगे और भी उग्र आन्दोलन करेंगे.वही इस बारे में  जिला शिक्षाधिकारी अशोक बंजारे ने आश्वासन दिया है कि एक हफ्ते के अन्दर इन सभी शिक्षको को उनके बकाया वेतन का भुगतान कर दिया जायेगा

ये भी पढ़े - छत्तीसगढ़ शासन धर्म और नीति के साथ चल रहा- बृजमोहन अग्रवाल

गौरतलब है कि शिक्षक संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि बार बार संबंधित अधिकारियों को सू​चित करने के बाद भी अब तक इन शिक्षकों को वेतन का भुगतान नही किया गया है. जिसके चलते इन शिक्षकों के सामने अपने परिवार के भरण पोषण के लिए काफी परेशानी उठाना पड़ रहा है. कुछ शिक्षकों ने रोज की जरूरतों के लिए उधार भी ले रखा है. लेकिन​ शिक्षकों की इन परेशनियों से लगता है कि सरकार का कोई सरोकार नहीं है. तभी तो 2-3 माह बीत जाने के बाद भी अब तक इन शिक्षकों को वेतन का भुगतान नहीं किया गया है.

 

 

वेब टीम  -IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News