रायपुर News

कांग्रेस, JCCJ के घोषणा पत्र में शामिल होगा शिक्षाकर्मियों का मुद्दा

Last Modified - February 22, 2018, 10:57 am

छत्तीसगढ़ भाजपा ने साल 2003 और 2008 विधानसभा चुनाव में शिक्षाकर्मियों की मांगों को प्रमुखता से अपने घोषणा पत्र में जगह दी थी, लेकिन आज तक शिक्षाकर्मी अपनी मांगों को लेकर लड़ाई लड़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें- 

ग्रंथपाल के पद पर पदोन्नत हो सकेंगे सहायक शिक्षक, पंचायत ने दी हरी झंडी

चुनावी साल में शिक्षाकर्मियों की संविलियन की मांग ने मुसीबत और बढ़ा दी है। इस मुद्दे को भुनाने में कांग्रेस और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ भी पीछे नहीं हैं। दोनों पार्टियां इस मुद्दे को घोषणापत्र में शामिल करने की बात कह रही हैं। 

ये भी पढ़ें-छत्तीसगढ़ के गावों में नि:शुल्क दिखाया जाएगा फिल्म पैडमैन, फ्री स्क्रीनिंग का फैसला

  

ये भी पढ़ें- रायपुर से जुड़े रोटोमैक घोटाला मामले के तार, बागड़िया ब्रदर्स पर ED का छापा

सरकार ने शिक्षाकर्मियों की मांग पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनाई है, जिसकी रिपोर्ट अगले कुछ महीनों में आएगी, लेकिन शिक्षाकर्मियों को सभी मांगें पूरा होने का भरोसा नहीं है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने सकारात्मक निर्णय की उम्मीद जताई है, साथ ही विपक्ष पर भी निशाना साधा है। 

  

ये भी पढ़ें- शिक्षाकर्मी संघ संविलियन सहित प्रमुख मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन

राज्य में शिक्षाकर्मियों की संख्या करीब 2 लाख है और वे ठोस निर्णय चाहते हैं। वहीं कांग्रेस और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ भी इस मुद्दे पर सियासी नफा देख रहे हैं। ज़ाहिर है, चुनावी साल में सरकार की मुश्किलें बढ़ गईं हैं।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 

 

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News