News

अजीत जोगी को नहीं मिलेगा नारियल, चुनाव चिन्ह मिलने तक गुलाबी रहेगी पहचान

Last Modified - February 23, 2018, 5:21 pm

रायपुर। किसी भी नए राजनीतिक दल की शुरूआत किसी न किसी विचारधारा के प्रभाव में आकर होती है, लेकिन पार्टी की पहचान होती है उसका चुनाव चिन्ह। जब पार्टी को चुनाव चिन्ह मिल जाता है, तो वही चिन्ह पार्टी की पहचान के साथ जुड़ जाता है जैसे भाजपा का नाम जेहन में आते ही कमल के फूल की तस्वीर दिमाग में कौंध आती है। वैसे ही कांग्रेस का नाम आते ही पंजे का निशान और बहुजन समाज पार्टी का नाम आते ही हाथी का ध्यान आने लगता है। जब चुनाव चिन्ह किसी पार्टी के लिए इतना महत्व रखता है तो स्वाभाविक है कि नई पार्टियों को अपना पसंदीदा चुनाव चिन्ह पाने के लिए मशक्कत भी करनी पड़ती होगी। 

बम, डेटोनेटर, मेडिकल किट सहित भारी मात्रा में नक्सली सामान बरामद

अब ऐसा ही कुछ छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी के साथ हो रहा है। छत्तीसगढ़ में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं और चुनावों से पहले जोगी कांग्रेस को चुनाव चिन्ह अलॉट होना है जिसके लिए केंद्रीय चुनाव आयोग ने पार्टी को तीन वैकल्पिक चुनाव चिन्ह भेजने को कहा है। लेकिन असल बात यह नहीं है, असल बात यह है कि पार्टी की पहली पसंद नारियल का चिन्ह था, जो अचानक उसके हाथ से छीन गया है। इसकी वजह है गोवा की एक क्षेत्रीय पार्टी गोवा फारवर्ड को अजीत जोगी की पहली पसंद नारियल का चिन्ह आयोग ने अलॉट कर दिया है। गोवा की पार्टी को नारियल चुनाव चिन्ह देने के साथ ही चुनाव आयोग ने अपने उपलब्ध चुनाव चिन्हों की सूची से इस चिन्ह को हटा लिया है। 

कोलारस में मतदान से पहले बवाल, कांग्रेस प्रत्याशी घायल, भाजपा विधायक पर पैसा बांटने का आरोप 

अब जोगी कांग्रेस को चुनाव चिन्ह के लिए 6 जून से पहले केंद्रीय आयोग के सामने तीन विकल्प भेजने है, पार्टी को इस बावत आधिकारिक सूचना मिल चुकी है। अब राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि चुनाव चिन्ह के लिए जोगी कांग्रेस ने पार्टी के अंदर से सुझाव लेने शुरू कर दिए है। सूत्रों के अनुसार पार्टी ने सभी वरिष्ठ नेताओं से पार्टी के चिन्ह के लिए तीन विकल्प की मांग की है। इसमें जो विकल्प आएंगे, पार्टी की पसंद और बहुमत से आधार पर पार्टी उनमें से अपना चुनाव चिन्ह फाइनल करेगी। जनता कांग्रेस के प्रवक्ता सुब्रत डे और पार्टी के वरिष्ठ नेता और मरवाही विधायक अमित जोगी ने IBC24 बताया कि जब तक पार्टी का चुनाव चिन्ह फाइनल नहीं होता तब तक गुलाबी रंग के साथ ही प्रचार आगे बढ़ाया जाएगा। गुलाबी रंग की पहचान पार्टी के साथ मिल चुकी है और अब वह पार्टी की विशेष पहचान के रूप में जाना जाता है। इसलिए जब तक चिन्ह फाइनल नहीं होता तब तक हम गुलाबी रंग के साथ ही प्रचार जारी रखेंगे।

 

 

 

अमन वर्मा, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News