News

श्रीदेवी का निधन, 'चालबाज' 'हिम्मतवाला' 'चांदनी' मिस्टर इंडिया सबको लगा 'सदमा'

Last Modified - February 25, 2018, 1:48 pm

कभी रूपहले पर्दे पर अपनी अदाओं से लाखों हिन्दुस्तानियों की जान ले लेने वाली अदाकार श्रीदेवी का शनिवार देर रात दुबई में निधन हो गया। श्रीदेवी अपने पति बोनी कपूर और छोटी बेटी के साथ भतीजे की शादी में शामिल होने दुबई पहुंची थी। बाॅलीवुड में अपना करीयर शुरू करने की कगार पर खड़ी बड़ी बेटी जाह्नवी अपनी आगामी फिल्म की शूटिंग में व्यस्त होने के कारण शादी में शामिल नहीं हो पाई। फैमिली फंक्शन में शामिल होने दुबई पहुंची श्रीदेवी ने अपनी कई तस्वीरें भी शेयर की जिसमें वे परिवार के साथ शादी एंजाॅय करती नजर आ रही है। 

देखें तस्वीरें - 

 

❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️

A post shared by Sridevi Kapoor (@sridevi.kapoor) on

 

❤️

A post shared by Sridevi Kapoor (@sridevi.kapoor) on

 

 

A post shared by Sridevi Kapoor (@sridevi.kapoor) on

 

वैसे तो श्रीदेवी ने अपने जीवन में कई रोल प्ले किए वे एक आइडियल वाइफ रही, एक प्यारी मां और अपने माता-पिता की चहेती बेटी लेकिन श्रीदेवी को पहचान दिलाई उनके नाटकीय अभिनय ने 1975 में आई फिल्म जूली से बतौर बाल कलाकार अपना करियर शुरू करने वाली श्रीदेवी ने उस दौर में अपने अभिनय का लोहा मनवाया जब जीनत अमान, जया भादूड़ी, रेखा, हेमामालिनी और शर्मिला टैगोर जैसी खुबसूरत अदाकाराओं का बाॅलीवुड पर राज था। 

यही भी पढ़ें - बच्ची से अश्लीलता के आरोपी सिंगर पापोन ने रियलिटी शो के जज की कुर्सी छोड़ी

श्री देवी को असल पहचान मिली 1983 में आई फिल्म हिम्मतवाला से जितेन्द्र के साथ श्रीदेवी की जोड़ी को लोगों ने खूब सराहा किशोर कुमार और लगामंगेशकर की आवाज ने श्रीदेवी को लोगों के नैनों में सपनों की तरह उकेर दिया। इस ब्रेक के बाद श्रीदेवी ने कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा उन्होंने अपने करीयर में अनगिनत फिल्में की और ऐसे दमदार रोल निभाए जिनमें फीमेल किरदार को पर्दे पर बेहतरीन ढंग से पेश किया गया। साल 1989 में यशराज बेनर के तले बनी फिल्म चांदनी में बेजोड़ अभिनय से लोगों के जहन में अपने श्रृगांर और प्रेम की ऐसी छाप छोड़ी जिसे आज भी बाॅलीवुड में बनने वाली फिल्मों का माइल स्टोन कहा जा सकता है।

यही भी पढ़ें - FIR की चंद्रमुखी चौटाला यानी कविता कौशिक का ये हॉट, बोल्ड अवतार आपने देखा?

श्रीदेवी ने मुख्यधार के साथ ही आर्ट फिल्मों में भी काम किया यह उनका वह पक्ष है जिसने बाॅलीवुड में वैचारिक फिल्म निर्माण को काफी सहारा दिया। श्रीदेवी ने फिल्म सदमा में एक विक्षिप्त लड़की का रोल निभाया इस फिल्म को देखकर कोई यह नहीं कह सकता कि यह वहीं श्रीदेवी है जिन्होंने चालबाज जैसी फिल्म में एक चुलबुली, चपल, चतुर और बेबाक लड़की का रोल निभाया था। बोनी कपूर से शादी और फिर बच्चों के बाद उन्होंने फिल्मों से धीरे-धीरे दूरी बनाने का काम किया लेकिन साल 2012 में उन्होंने सुनहरे पर्दे पर फिर वापसी की फिल्म इंग्लिश विंग्लिश से और एक बार फिर उन्होंने यह साबित कर दिया कि अभिनय को बांधा नहीं जा सकता वह उम्र या ढ़लते कसे हुए चेहरे से कहीं ज्यादा है। श्रीदेवी के करीयर की आखिरी फिल्म रही साल 2017 में आई माॅम, फिल्म में श्रीदेवी ने फिर अपने किरदार के साथ न्याय किया और दर्शकों को एक स्वस्थ्य संदेश देने का भी काम किया। फिलहाल श्रीदेवी ब्रह्म में समाहित हो गई है लेकिन उनके श्रेष्ठ कार्यों के लिए उनके प्रशंसक और चाहने वाले सदैव उन्हे याद करते रखेंगे। 

 

 

 

 

अमन वर्मा, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News