News

बीड़ी पर जेल में छिड़ा खूनी संघर्ष, एक की मौत, 5 कैदी सहित जेल स्टाफ पर मामला दर्ज

Last Modified - February 26, 2018, 10:15 am

ग्वालियर सेंट्रल जेल में बिल्डर आदित्य भदौरिया की मारपीट से हुई मौत के मामले में हत्या की एफआईआर दर्ज कर ली गई है। बहोड़ापुर थाने में जेल में बंद 5 कैदियों और अज्ञात जेल स्टाफ के खिलाफ धारा 302 के तहत केस दर्ज कर लिया गया। मजिस्ट्रयल जांच में खुलासा होने के बाद भी पुलिस और जेल प्रशासन इस मामले को टाल रहे थे। अब एफआईआर दर्ज होने के बाद अफसरों का कहना है कि इन्वेस्टीगेशन में जेल स्टाफ की जानकारी सामने आने पर उन्हें नामजद आरोपी बनाया जाएगा।

मुंगावली, कोलारस में चुनाव प्रचार थमा, क्या ज्योतिरादित्य का तिलिस्म तोड़ पाएंगे शिवराज? 

पुलिस ने अभी कैदी पिंकी भदौरिया, मामा अरूसी वाले पंडित, आशाराम जादौन, मनोज बघेल, जितेंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। यह एफआईआर मजिस्ट्रियल जांच के आधार पर की गई है। आरंभ में जेल अधिकारी आदित्य की मौत की वजह सांप का काटना बता रहे थे। दरअसल केंद्रीय जेल ग्वालियर के बंदी प्रदीप ने मजिस्ट्रियल जांच में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी अजय कुमार यदु को बताया था कि 13 जुलाई 2017 को एक बीड़ी मांगने की वजह से आदित्य सिंह भदौरिया को बंदियों ने पहले जेल अस्पताल के पलंग पर हथकड़ी के जरिए बांधा और फिर उस डंडे से मारा, जो कि ड्रिप चढ़ाने के लिए लगा हुआ था।

श्रीदेवी का निधन, 'चालबाज' 'हिम्मतवाला' 'चांदनी' मिस्टर इंडिया सबको लगा 'सदमा'

इसके बाद बंदियों ने आदित्य की कनपटी में करीब 100 बार जोर-जोर से चप्पल मारी। इसके बाद बंदी पिंकी भदौरिया, मामा अरूसी वाले पंडित और जादौन मारपीट करते हुए आदित्य को दूसरे वार्ड में ले गए। जिससे आदित्य के मुंह से खून बहने लगा। जिससे अदित्य की मौत 23 जुलाई को हो गयी थी।

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News