News

मध्यप्रदेश का सेमीफाइनल हारी भाजपा, मुंगावली-कोलारास दोनों सीटों पर कांग्रेस की वापसी

Last Modified - February 28, 2018, 9:50 pm

 

भोपाल। मध्य प्रदेश में सत्ता का सेमीफइनल कहे जाने वाले कोलारस और मुंगावली उप चुनाव में कांग्रेस ने अपनी जीत को बरकरार रखा है प्रदेश में हो रहे इस चुनाव पर पूरे प्रदेश के साथ देश की निगाह लगी हुए थी। इन चुनावों के साथ ही कांग्रेस दोनों सीटों को बचाने में कामयाब रही उप चुनाव के नतीजे जहां सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस को और ज्यादा मेहनत करने की सीख दे रहे है वहीं बीजेपी के लिए शिवराज सिंह चैहान की लोकप्रियता और अब की बार 200 पार के नारे पर भी सवाल खड़े कर रहे है। 

किसानों और कर्मचारियों पर फोकस रहा मध्यप्रदेश का बजट

सत्ता के इस सेमीफाइनल में सामने आए नतीजे बीजेपी के लिए चिंताजनक है। चित्रकूट और अटेर के बाद , कोलारस और मुंगावली के नतीजों ने प्रदेश में बीजेपी की सरकार और शिवराज सिंह चैहान की लोकप्रियता पर सवाल खड़े किये है। जिस तरह से ये परिणाम रहे है उससे कांग्रेस को भी और ज्यादा मेहनत करने की जरुरत है पर बीजेपी के तमाम बड़े चेहरों के बीच कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया आखिरकार अपना गढ़ बचाने में कामयाब रहे। वंही इन चुनावों से 2018 के के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया की कांग्रेस में सीएम चेहरों को लेकर भी दावेदारी मजबूत हुई है।

बेनतीजा रही संविदा कर्मचारियों और शिवराज सिंह चौहान की मुलाकात, जारी रहेगी हड़ताल

कोलारस और मुंगावली उप चुनाव में बीजेपी अपने पूरे लावलश्कर के साथ मैदान में थी खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने यहां प्रचार की कमान संभाली 17 मंत्री 35 विधायक पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और महासचिव के मैदान में रहने के बाद भी गढ़ को भेदने में बीजेपी नाकाम रही। हालांकि बीजेपी के लिए राहत की खबर जीत के कम अंत को लेकर है। सत्ता के सेमीफायनल में कांग्रेस भले ही जीती हो पर 2018 के फायनल मुकाबले के लिए कांग्रेस को अभी और कड़ी मशक्क्त करने की जरुरत है, वहीं बीजेपी को भी अब सोचना होगा कि बीजेपी के सुपर स्टॉर शिवराज सिंह चैहान के चेहरे के जादू को दोबारा कैसे जीवंत किया जाए।

 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News