News

किसानों और कर्मचारियों पर फोकस रहा मध्यप्रदेश का बजट

Last Modified - February 28, 2018, 1:39 pm

मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया प्रदेश का साल 2018-19 का बजट पेश किया, 2 लाख 4 हजार 642 करोड़ के बजट में मुख्य रुप से किसान और कर्मचारियों पर केंद्रीत रहा. बजट पेश करने के दौरान विपक्ष ने जमकर वित्त मंत्री पर छीटा-कसी भी की. आइए आपको बतातें हैं वित्त मंत्री ने बजट में  किसानों के लिए क्या चीजें हैं-

 

'प्रदेश ने 7.3 की विकास दर हासिल की'

'विकास दर राष्ट्रीय विकास दर से ज्यादा'

'सरकार किसानों की आय बढ़ाने पर प्रतिबद्ध'

'15 लाख किसानों ने लिया भावांतर योजना का लाभ'

किसानों को सुरक्षा देने सरकार संकल्पित

'सिंचाई सुविधाओं में विस्तार, फसल का उचित मूल्य'

 '5 बार कृषि कर्मण अवार्ड मिला'

'सहकारिता क्षेत्र में शून्य ब्याज पर दिया जा रहा ऋण';

'मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना होगी शुरू'

'350 करोड़ रूपए का प्रावधान'

कृषि के लिए 37,498 करोड़ का प्रावधान

मत्स्य पालन के लिए 91 करोड़

पशुपालन के लिए 1081 करोड़ का प्रावधान

बीमा योजना के लिए 2 हजार करोड़

स्मार्ट सिटी के लिए 700 करोड़ का प्रावधान

उद्यानिकी के लिए 1038 करोड़ का प्रावधान

निवेश के लिए 855 करोड़ का प्रावधान

500 करोड़ की राशि भावांतर योजना में जमा की

सिंचाई के लिए 10 हजार 918 करोड़ का प्रावधान

भोपाल, इंदौर, जबलपुर में मेट्रो का लक्ष्य

2018-19 में सड़कों के लिए 10 हजार करोड़

6 नए मेडिकल कॉलेज खुलेंगे

NHM के लिए 1175 करोड़

बिजली के क्षेत्र में बिजली के लिए 83 हजार करोड़ का निवेश

लोक स्वास्थ्य के लिए 5689 करोड़ का प्रावधान

सड़कों पर बोले वित्त मंत्री

2003 में गड्ढों पर ढूंढनी पड़ती थीं सड़कें

532 सड़कों का निर्माण प्रस्तावित

आज प्रदेश में सड़कों का जाल बिछा 

 

 

ये भी पढ़ें-मध्यप्रदेश .विधानसभा में प्रदेश का आर्थिक सर्वेक्षण पेश

   

 

 

 बजट पेश होने के बाद  विधानसभा की कार्यवाही सात मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई. 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News