News

नाबालिग छात्रा की तलाश करती पुलिस के हाथ लगे बड़े सेक्स रैकेट के तार

Last Modified - March 6, 2018, 6:16 pm

गुना के बाईपास रोड भदोरिया कॉलोनी से अचानक एक नाबालिग छात्रा का अपहरण हो गया था, परिजनों ने थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराई, लेकिन छात्रा का कई दिनों तक पता नहीं चला, लेकिन जब नाबालिग छात्रा का पता चला तो एक ऐसे मामले का खुलासा हुआ जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे।31 जनवरी 2018 को कक्षा 9 में पढ़ने वाली एक 17 वर्षीय एक दलित वर्ग की नाबालिग छात्रा का गुना की भदोरिया कॉलोनी से अचानक अपहरण कर लिया गया, परिजनों ने इसकी शिकायत गुना के कैंट थाने में दर्ज कराई गई। तमाम नाते-रिश्तेदारों और कई जगह तलाश करने के बाद भी जब छात्रा का पता नहीं चला तो परिजनों ने छात्रा की फोटो सोशल मीडिया ग्रुपों पर पोस्ट कर दी, लगातार तलाश करने के बाद कई दिनों तक छात्रा का पता नहीं चला, लेकिन अचानक एक दिन पुलिस को सूचना मिली कि छात्रा को गुना के बूढ़े बालाजी क्षेत्र में एक मकान में बंधक बनाकर रखा गया है, सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तो मौके से मकान मालिक और उसकी पत्नी भाग निकले जब पुलिस ने घर के अंदर दस्तक दी तो गुम हुई नाबालिक छात्रा सहित दो अन्य महिलाएं और एक युवक को पुलिस ने संदिग्ध हालत में मिले। 

सरकारी वाहन में आन ड्यूटी, वर्दीधारी पुलिस आरक्षक का शराब पीते वीडियो वायरल, देखें

नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग स्कूली छात्रा के अपहरण से लेकर इस धंधे में कदम रखने तक की वजह पता करने के लिए जब पुलिस ने एक-एक करके पूछताछ शुरू की तो सेक्स रैकेट का एक बड़ा खुलासा सामने आ गया। जिसके बाद पुलिस ने अन्य ठिकानों पर भी निगरानी की और दबिश दी तो गुना के चैधरी मोहल्ला में भी जिस्म की मंडी संचालित हो रही थी जहां से दो युवतियां और तीन आरोपियों को हिरासत में लिया गया, जिसमें इस धंधे के लिये ग्राहक लाने वाले दलाल भी शामिल थे, जिस रैकेट का पुलिस ने पर्दाफाश किया, बताया जाता है कि यह रैकेट गुना शहर की कई पाॅश कॉलोनियों में कई सालों से संचालित हो रहा था, लेकिन बड़ी बात यह है कि इतने लंबे समय तक न तो पुलिस को इसकी भनक लगी, और न ही डर और भय के कारण पड़ोस के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।

विधायक कटारे ब्लैकमेलिंग-रेप मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई, जांच अधिकारियों को पेश होने के निर्देश

खास बात यह भी है कि तमाम जरूरतों को पूरा करने और ऐशो आराम की जिंदगी के नाम पर नई उम्र की लड़कियों को इस गंदगी के दलदल में धकेला जाता था, और इसी गंदगी का शिकार हुई नाबालिक छात्रा को बंधक बनाकर इसी तरह के काम कराया जा रहा था। पुलिस ने पूछताछ में एक और अन्य ठिकाने पर भी रेड डाली और वहां से भी कुछ युवक-युक्तियों को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली, चैंकाने वाली बात यह है कि जहां शरीफ और इज्जतदार लोगों की बस्तियां थी वहां पर यह अड्डे संचालित हो रहे थे, और हर शाम इन गलियों में जिश्म की नुमाइश होती थी, रंगीन माहौल में तमाम तलबगार यहां आते थे और बोलियां लगाते थे, और तो और अड्डों को संचालित करने वालों का डर और भय इस कदर व्याप्त था कि लोग इसकी सूचना पुलिस को देने से भी डरते थे। 

मध्यप्रदेश में कुपोषण ने 3 माह में ली 11 हजार से ज्यादा बच्चों की जान

नाबालिक छात्रा के बरामद होने के बाद कड़ी से कड़ी कुछ इस तरह जोड़ी कि लगातार मामले से पर्दा उठता चला गया गिरफ्त में आई महिलाओं और दलालों से जो मोबाइल फोन बरामद हुए हैं उनकी कॉल डिटेल्स निकाली जा रही है आशंका यह भी जताई जा रही है कि कॉल डिटेल्स में गुना जिले के कई हाई प्रोफाइल लोगों के नाम भी सामने आ सकते हैं फिलहाल पुलिस देह व्यापार को लेकर चप्पे-चप्पे पर नजरें जमाए हुए है और शहर में छानबीन लगातार जारी है, कहते हैं हर बुराई का अंत होता है बिल्कुल इसी तरह इस जिस्म की मंडी का पर्दाफाश हुआ और आरोपियों को जेल की सलाखों के पीछे भेजा जा रहा है।

 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News