News

बेटी जिन्दाबाद बेकरी और सखी वन स्टॉप सेन्टर को मिला राष्ट्रपति के हाथों राष्ट्रीय पुरस्कार

Last Modified - March 9, 2018, 2:31 pm

रायपुर, महिला उत्थान और महिला सशक्तिकरण की दिशा में किये गये उल्लेखनीय कार्य के लिये छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया हैं। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने रायपुर के ’सखी वन स्टॉप सेंटर’ और जशपुर के कांसाबेल में संचालित ’बेटी जिंदाबाद बेकरी’ को नारीशक्ति सम्मान 2017 से सम्मानित किया गया है। 

 

 महिला एवं बाल विकास मंत्री  रमशीला साहू के साथ विभाग की  सचिव डॉ. एम. गीता और जशपुर के कांसाबेल की ’बेटी जिंदाबाद बेकरी’ की सुश्री पार्वती चौहान ने  नई  दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में यह सम्मान ग्रहण किया। उल्लेखनीय है कि, नारीशक्ति सम्मान के तहत एक लाख रूपए और प्रशस्ति पत्र दिया जाता हैं। ज्ञातव्य है कि महिला उत्थान और सशक्तिकरण की दिशा में कार्य करने के लिए छत्तीसगढ़ अग्रणी राज्यों में शामिल रहा हैं। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एक बार फिर छत्तीसगढ़ को नारी सशक्तिकरण की दिशा में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया हैं। रायपुर जिलें में स्थित देश के पहले ’सखी वन स्टॉप’ को यह पुरस्कार पिछले साल के दौरान महिलाओं के खिलाफ हिंसा से संबंधित मामलों की सफलतापूर्वक सुनवाई और निदान में महत्वपूर्ण योगदान करने के लिए दिया गया हैं।

क्या है सखी वन स्टॉप सेन्टर

घर के भीतर अथवा घर के बाहर अथवा किसी भी रूप में पीडि़त व संकटग्रस्त महिला को आवश्यकतानुसार सुविधा/सहायता तत्काल उपलब्ध कराते हुए जरूरतमंद महिला को चिकित्सा, विधिक सहायता, मनोवैज्ञानिक सलाह , मानसिक उद्देश्य से 16 जुलाई 2015 को माननीया केन्द्रीय मंत्री महिला एवं बाल विकास  मेनका गांधी द्वारा रायपुर में देश का पहला वन स्टॉप सेन्टर स्थापित किया गया था। नव स्थापित सखी केन्द्र के समक्ष जरूरतमंद महिलाओं बालिकाओं को उनकी अपेक्षा के अनुसार तत्काल सहायता उपलब्ध कराना एक चुनौती थी क्योंकि इसके  पूर्व के कई उदाहरण एवं परिकल्पना उसके पास नहीं थी परंतु कम समय में ही सखी रायपुर ने न केवल अपनी पहचान बनाई अपितु आने वाले लोगो का विश्वास भी जीता। अब तक दर्ज 1982 प्रकरणो में 1164 प्रकरणों का निराकरण तथा 573 को आश्रय सुविधा उपलब्ध कराई गई है.

    

क्या है बेटी जिन्दाबाद बेकरी शॉप कांसाबेल जशपुर का कांसेप्ट 

    बेटी जिन्दाबाद बेकरी शॉप उन बीस बालिकाओं के समुह का उद्यम हैं जिसके तहत वे बेकरी का सफलतापूर्वक व्यवसाय कर रही हैं। ये वो बेटियॉ हैं, जो मानव तस्करी का शिकार होकर भयावह घटनाओं को भुगत कर लौटी। लेकिन अपनी हिम्मत को कभी टूटने नहीं दिया। स्वयं की सहायता खुद कर एक नए जीवन में प्रवेश करने की नीयत से बनाए समूह का नाम रखा ’’जीवन स्वसहायता समूह’’ लडकीयों के मनोबल को देखकर प्रशासन ने भी आगे बढकर उनकी मदद की।

सरकार की योजना किस कदर आत्मविश्वास बढ़ाती हैं और जीवन को सॅवारती है, यह समझना हो तो कांसाबेल की उस बेकरी में जाना होगा। जहां जिले की बेंटियां इतिहास रच रही हैं। आप को यह जानकर खुशी होगी की बेटी जिन्दाबाद बेकरी से बच्चियॉ प्रतिदिन औसतन 1500 रूपए कमा रही हैं और लगभग पैंतालिस हजार की मासिक आय अर्जित कर रही हैं। निश्चित रूप से जशपुर जिले के बेटी जिन्दाबाद कार्यक्रम एवं इन बेटियों के द्वारा किया जा रहा कार्य महिला सशक्तिकरण को वास्तिक दिशा देने का कार्य हैं।

 

वेब टीम ibc24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News