News

आधी रात को महिला कर्मचारी से मिलने का मैसेज करने वाले आईएफएस अधिकारी की खुली पोल

Last Modified - March 10, 2018, 7:09 pm

जगदलपुर- अधिकारी द्वारा अपने महिला सहकर्मी के साथ कुछ न कुछ बदसलूकी की बातें आये दिन आती रहती है। लेकिन कल रात जिस अधिकारी ने एक महिला के साथ  अश्लील बातचीत की अब उसमे उसी अधिकारी द्वारा अपनी पत्नी को शामिल कर बात को घुमाने की कोशिश की जा रही है। 

 

क्या है  मामला 

बस्तर की एक संभ्रांत महिला को गुरुवार की रात 1.12 बजे उसके वाट्सएप नम्बर पर एक आईएफएस ने संदेश भेजा कि अभी पांच मिनट के लिए मिलने आता हूं। अफसर ने लिखा कि मिलने का कोई एजेण्डा नहीं है। जब महिला ने जवाब दिया कि वह कल ऑफिस में आकर मिल लेगी, तो आईएफएस अफसर ने जवाब दिया कि वह मजाक कर रहा था। आधी रात के बाद हुए इस घटनाक्रम से विचलित महिला ने सुबह इसकी शिकायत वन विभाग के राजधानी में पदस्थ उच्चाधिकारियों से की तथा आईएफएस अफसरों द्वारा वाट्सएप पर हुए संवाद का स्क्रीन शॉट उन्हें भेजा है।

ये भी पढ़े - नीति आयोग के सीईओ ने की छत्तीसगढ़ के 3 युवा कलेक्टर की जमकर तारीफ

उस मेसेंजर चेटिंग में  शुरुआत में तो दोनों के बीच सामान्य बातचीत होती रही, लेकिन महिला उस समय चकित रह गई, जब रात करी 1.12 बजे आईएफएस अधिकारी ने उससे तुरंत मिलने की इच्छा जताते हुए लिखा कि मिलने का मजा तो इसी वक्त है। महिला ने जवाब में कहा कि इतनी रात ऐसा कहने की उनकी हिम्मत कैसे हुई, तो जवाब में अधिकारी ने तुरंत कहा कि वह मजाक कर रहा था।और तो और उन्होंने अपने इस कृत्य में अपनी पत्नी को भी घसीट लिया उन्होंने अपने मैसेज के दौरान ये भी लिख दिया  कि वाइफ के कहने पर उन्होंने यह संदेश भेजा था।वन विभाग के अपर मुख्य सचिव सीके खेतान ने भी इस पूरे मामले की जानकारी बस्तर के वनसंरक्षक से मांगी है, वहीं बस्तर एसपी डी. श्रवण ने भी महिला से बात करके पूरी घटना की जानकारी ली है।

ये भी पढ़े - भारतीय रेल की नई घोषणा अपनी कन्फर्म टिकट कर सकेंगे ट्रांसफर

दबाव में महिला

इस पूरे घटनाक्रम में पीडि़ता रही महिला पर एफआईआर न करने का दबाव बनाया जा रहा है। बस्तर के स्थानीय सम्पर्कों के माध्यम से उस महिला को मैनेज करने की कोशिश की जा रही है ताकि वह पुलिस में घटना की रिपोर्ट न करे। इन दबावों के बीच महिला ने अब तक थाने में शिकायत दर्ज नहीं कराई है लेकिन बस्तर एसपी को घटना की पूरी जानकारी दे दी गई है।आईएफएस अफसर के इस कृत्य की जानकारी वनमंत्री महेश गागड़ा को भी दी गई है, जिन्होंने इस पूरे मामले की रिपोर्ट प्रधान मुख्य वनसंरक्षक से तलब की है।

web team IBC24

Trending News

Related News