IBC-24

छग: स्कूल से 8 किलोमीटर दूर रहने वाले शिक्षाकर्मियों की सैलरी रोकने के आदेश जारी !

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 11 Mar 2018 03:27 PM, Updated On 11 Mar 2018 03:27 PM

रायपुर। सोचिए यदि आपकी सैलरी सिर्फ इसलिए रोक ली जाए क्योंकि आपका घर या जहां आप रह रहे है वह जगह आपके काम करने के स्थान से दूर है। आप सोच रहे होंगे कि ऐसा थोड़ी हो सकता है, कोई कहीं भी रहे इससे किसी को क्या फर्क पड़ सकता है। लेकिन ऐसा ही एक आदेश छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के मानपुर पंचायत के जनपद पंचायत सीईओ ने सभी सरपंच और सचिवों को जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि जो शिक्षक या शिक्षाकर्मी स्कूल से 8 किलोमीटर दूर से आते है उनके अटेंडेंस पे डाटा पर सिग्नेचर न किए जाएं। आदेश में बताया गया है कि इस संबंध में पंचायत ग्रामीण विकास छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पूर्व में ही स्पष्ट निर्देश दिए गये है।

संवाद कार्यक्रम में बोले अजीत जोगी,प्रदेश में बनेगी हमारी सरकार, व्यापारियों को मिलेगा भयमुक्त माहौल

इस तुगलकी फरमान के बाद किसी समझ में नहीं आ रहा है कि सीईओ साहब इस आदेश से क्या हासिल करना चाहते है। वहीं शिक्षाकर्मी संघ के प्रांतीय संचालक संजय शर्मा ने कहा यह सिर्फ और सिर्फ शिक्षाकर्मियों को परेशान करने के लिए उठाया गया कदम है, उन्होंने आगे कहा कि इससे यह साबित होता है कि अधिकारियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से कोई मतलब नहीं है बल्कि उनकी मंशा शिक्षाकर्मियों को परेशान करने की है। कोई शिक्षक कहां रहता है यह उसका अधिकार है कोई भी व्यक्ति अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार ही अपने निवास स्थान का चयन करता है। किसी अधिकारी या सीईओ साहब के अनुसार कोई अपने निवास का चयन क्यों करेगा।

हैदराबाद के बालाश्रम में छत्तीसगढ़ के बच्चे, बाल संरक्षण आयोग की मदद से मिले परिजन

दुबे ने कहा यदि शिक्षक के द्वारा शिक्षा पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है तो उस पर कार्यवाही की जा सकती है, लेकिन इस तरह के तुगलकी फरमान से सिर्फ शिक्षाकर्मियों को परेशान करने की कोशिश की जा रही है। शिक्षाकर्मी संघ इस आदेश की कड़ी निंदा करता है। 

 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : CG : Order issu to stop the salary of education workers who live 8 kilometers away from the school !

ibc-24