भोपाल News

MP में कितने 'नीरव', PNB को 53 कारोबारियों ने लगाए 652 करोड़ की चपत

Created at - March 13, 2018, 10:50 am
Modified at - March 13, 2018, 10:50 am

भोपाल। हीरा कारोबारी नीरव मोदी कांड से चर्चा में आए पंजाब नेशनल बैंक को मध्यप्रदेश के भी 53 कारोबारियों ने 652 करोड़ रुपयों की चपत लगा रखी है. बैंक ने अपने विलफुल डिफॉल्टर्स की सूची पेश की है जिससे ये चौंकाने वाला ख़ुलासा हुआ है. बैंक के 25 लाख रुपयों से ज्यादा के लोन ना चुकाने वाले विलफुल डिफॉल्टर्स से कुल लेनदारी 14 हजार 593 करोड़ पहुंच गई है जो बीते साल से 22 फीसदी ज्यादा है. बैंकिंग मामलों के जानकार इस हालात को देश की अर्थव्यवस्था के लिए ख़तरा बता रहे हैं

 

ये भी पढ़ें-सीढ़ियों से गिरकर घायल हुईं सरोज पांडेय, व्हीलचेयर से पहुंची नामांकन भरने

साढ़े ग्यारह हजार करोड़ के लोन घोटाले में फंसे पंजाब नेशनल बैंक के लिए नीरव मोदी अकेला संकट नहीं है...खुद PNB के मुताबिक उसके 25 लाख रुपये से ज्यादा का कर्ज न चुकाने वाले विलफुल डिफॉल्टर्स से कुल लेनदारी 14 हज़ार 593 करोड़ रुपये पहुंच गई है. बैंक के आंकड़ों के मुताबिक बीते साल उसे जानबूझकर कर्ज़ ना चुकाने वालों से कुल 11 हज़ार 800 करोड़ रुपए वसूलने थे लेकिन इस साल ये रकम घटने की बजाए 22 फीसदी बढ़कर 14 हजार 593 करोड़ रुपये पहुंच गई है. बैंक ने अपनी वेबसाइट पर देश भर के अपने ऐसे एक हज़ार पचासी विलफुल डिफॉल्टर्स की जानकारी उजागर की है. इनमें मध्यप्रदेश के भी 53 कारोबारी शामिल हैं जो बैंक से लिए 652 करोड़ रुपयों का लोन जानबूझकर नहीं चुका रहे हैं.

 

ये भी पढ़ें- नाबालिग से गैंगरेप के 6 आरोपियों को उम्रकैद की सजा

पीएनबी को इंदौर के 27 कारोबारियों से 610 करोड़ रुपए, भोपाल के 18 कारोबारियों से 40 करोड़ रुपए, दतिया के 5 कारोबारियों से साढ़े तीन करोड़ रुपए, कटनी के 1 कारोबारी से साढ़े चार करोड़ रुपए जबकि ग्वालियर और जबलपुर के एक-एक कारोबारी से 45 लाख और 39 लाख रुपयों का कर्ज़ वसूलना है. बैंकिंग जानकारों की माने तो ऐसी हालत देश की अर्थव्यवस्था के लिए ठीक नहीं है. बैंकों के ऐसे आंकड़े, देश में ईमानदारी से टैक्स भरने वालों के मुंह चिढ़ाने जैसे हैं. केन्द्र सरकार और खुद बैंकों को विलफुल डिफॉल्टर्स पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.

  

ये भी पढ़ें-बीजेपी नेता बाबूलाल गौर के कर्मचारी की बेटी से रेप, अगवा कर छग में रखा गया

बढ़ते एनपीए के बीच विलफुल डिफॉल्टर्स से इतनी बड़ी लेनदारी पर जवाब मांगने आईबीसी-24 की टीम जबलपुर में पंजाब नेशनल बैंक के हैड ऑफिस पहुंची. पीएनबी के इस सर्किल ऑफिस में अधिकारियों ने कहा कि उन्हें मीडिया से चर्चा की इजाज़त नहीं है. हालांकि उन्होंने ये जरूर कहा कि बैंक लोन ना चुकाने वालों पर लगातार कार्रवाई कर रहा है. अब देखना ये है कि नीरव मोदी से पैसे वसूल पाने में नाकाम PNB क्या एमपी के कारोबारियों से अपना बकाया पैसा वसूल पायेगा.

 

विजेन्द्र पाण्डेय आईबीसी 24 जबलपुर


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News