News

अगर यह तकनीक मिल जाए तो 6 महीने में छत्तीसगढ़ से नक्सलवाद खत्म कर देंगे - रमन

Last Modified - March 14, 2018, 1:42 pm

सुकमा में शहीद हुए जवानों को बुधवार को तड़के अंतिम विदाई दी गयी । देर रात राजधानी लाये गए वीर जवानों के शव का रायपुर के अम्बेडकर अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया । रायपुर के माना स्थित चैथी बटालियन में जवानों को श्रद्धांजलि देने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर भी देर रात रायपुर पहुंचे थे। मुख्यमंत्री रमन सिंह, केंद्रीय मंत्री अहीर ,गृह मंत्री रामसेवक पैकरा,सहित छत्तीसगढ़ के कई मंत्री इस दौरान मौजूद थे।

सुकमा में शहीद जवानों को रायपुर में श्रदांजलि, CM और केंद्रीय गृहराज्य मंत्री हंसराज अहिर रहे मौजूद

मुख्यमन्त्री ने इस दौरान शहीदों की वीरता को याद करते हुए कहा कि इन जवानों की शहादत छत्तीसगढ़ कभी नहीं भूल सकता ऐसी घटनाओं से हौसला कम नहीं पड़ता, बल्कि और भी जोश के साथ हमारे जवान मोर्चा लेते है, ये जवानों की बौखलाहट है, क्योंकि नक्सली अब अपने ही मांद में बंध गए हैं, हमारे कैम्प खुल रहे हैं, हमने प्रतिज्ञा ली है, नक्सलियों का समूल नाश करेंगे’ मुख्यमंत्री से IB इनपुट के बावजूद हमले के बारे में पूछा गया, तो मुख्यमंत्री ने कहा “इनपुट मिलते है, उस पर काम भी होता है, लेकिन उन इलाकों की भगौलिक स्थिति अलग है।

यूपी-बिहार लोकसभा व विधानसभा उपचुनावों की मतगणना जारी, गोरखपुर में BJP, फूलपुर में SP आगे  

जवान हर दिन नयी लड़ाई कर रहे है, ये लड़ाई सीमा की लड़ाई से भी ज्यादा चुनौतीपूर्ण है पिछले साल 11 मार्च को जो जवान शहीद हुए थे, वो नए बन रहे रोड में IED ब्लास्ट का शिकार हुए थे, दिक्कत ये है कि हम आज भी उस तकनीक को नहीं ढूंढ पाये हैं कि जमीन के नीचे लगे IED का पता कैसे लगाएं, "अगर पता लगा तो हम 6 महीने में लड़ाई खत्म कर सकते है"। वहीं केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीरे ने कहा कि इन्टलीजेंस पर ज्यादा काम किया जायेगा, लैंड माइंस पर भी काम करेंगे ।केन्द्र और राज्य सरकार नक्सलवाद को खत्म करने के लिए पुरे प्रयास कर रही है ।

 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News